Wednesday , December 13 2017

मोदी की कुर्सी के लिए 1.25 लाख की बोली

सियासी राजनीतिक गलियारों में बैलट और बुलेट के सहारे कुर्सी की लड़ाई तो चलती रहती है, लेकिन बोली लगाकर कुर्सी पर हक पाने का शायद यह पहला मामला है | आगरा की रैली में नरेन्द्र मोदी जिस कुर्सी पर बैठे थे उसे खरीदने के लिए बीजेपी लीडरों

सियासी राजनीतिक गलियारों में बैलट और बुलेट के सहारे कुर्सी की लड़ाई तो चलती रहती है, लेकिन बोली लगाकर कुर्सी पर हक पाने का शायद यह पहला मामला है | आगरा की रैली में नरेन्द्र मोदी जिस कुर्सी पर बैठे थे उसे खरीदने के लिए बीजेपी लीडरों में घमासान मचा है | अब इसे मोदी का क्रेज कहिए या कुछ और पर इसे खरीदने के लिए अब तक 1.25 लाख रुपये की बोली लगाई जा चुकी है | इस सफ में एमपी और एमएलए भी शामिल हैं |

ज़राये के मुताबिक, एमएलए जगन प्रसाद गर्ग ने 1.25 लाख रुपये की बोली लगाई है जबकि दूसरे लीडरों नेताओं में एमएलए योगेन्द्र उपाध्याय और एमपी रामशंकर कठेरिया ने 1-1 लाख रुपये की बोली लगाई है | ज़राये ने कहा कि जिस टेंट हाउस मालिक की यह कुर्सी है वे बीजेपी कारकुन व Councilor हैं और इसे फरोख्त करने के लिए तैयार नहीं हैं |

21 नवंबर को आगरा वाकेय् कोठी मीना बाजार मैदान में बीजेपी की रैली हुई थी | इसमें बीजेपी के पीएम ओहदे के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने करीब 20 मिनट तकरीर की और करीब इतने ही वक्त मंच पर वह एक मामूली सी कुर्सी पर बैठे थे | रैली खत्म होने के बाद बीजेपी कारकुनो और लीडरों की नजर उस कुर्सी पर जम गई, जिस पर मोदी बैठे थे |

रैली के इंतेज़ाम की कमान संभालने वाले टैंट हाउस के मालिक व बीजेपी Councilor प्रमोद उपाध्याय की मानें तो रैली खत्म होने के फौरी बाद कुर्सी पाने की जंग शुरु हो गई |

पार्टी के एक कारकुन ने 2000 रुपए में कुर्सी खरीदने की पेशकश प्रमोद उपाध्याय को दिया जिस पर उन्होंने कुर्सी फरोख्त करने से इनकार कर दिया | बाद में यह खबर बीजेपी कारकुनों में फैल गई तो और भी पेशकश आने लगे | उन्होंने बताया कि बीजेपी एमएलए योगेन्द्र उपाध्याय ने कुर्सी की कीमत 1.11 लाख रुपए लगाई, तो एमपी रामशंकर कठेरिया 1.21 लाख देने को तैयार हो गए | इस पर एमएलए जगन प्रसाद गर्ग ने उस कुर्सी को 1.25 लाख में खरीदने की पेशकश दी. वहीं, प्रमोद उपाध्याय ने बताया कि पार्टी के कई लीडर कुर्सी को खरीदने के लिए कह चुके हैं, लेकिन वह इसे बेचना नहीं चाहते. प्रमोद का कहना है कि जिस कुर्सी पर मोदी बैठे, उसे उन्होंने सहेजकर रख लिया है |

वहीं, बीजेपी एमपी सांसद रामशंकर कठेरिया ने इससे पल्ला झाड़ते हुए कहा कि रैली खत्म होने के बाद गैर रस्मी तौर पर ऐसी चर्चा की जा रही थी, लेकिन हकीकत में ऐसा कुछ भी नहीं हैं. वहीं, एमएलए जगन प्रसाद गर्ग का कहना था कि रैली खत्म होने के बाद हंसी-मजाक चल रहा थी | उन्होंने अपना बचाव करते हुए कहा कि उस वक्त मैं फोन पर मशरूफ था, लेकिन थोड़ी बहुत बातें सुनी थी | किसी ने कहा था कि एमएलए जगन प्रसाद कुर्सी के लिए 1.25 लाख रुपए दे देंगे |

गौरतलब है कि बीजेपी के पीएम ओहदे के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की आगरा रैली में मुजफ्फरनगर दंगों के मुल्ज़िम पार्टी के दो एमएलए सुरेश राणा और संगीत सोम को एजाजदिया गया था | हालांकि मोदी के आने से पहले ही उन्हें मंच से उतार भी दिया गया ताकि मोदी पर तनाज़ो का कोई साया न पड़ जाए |

TOPPOPULARRECENT