Monday , February 26 2018

मोदी की टीम में आए मौलाना

बिजनौर के मौलाना सुहेब कासमी गुजरात के वज़ीर ए आला व बीजेपी में पीएम ओहदे के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के दामन से दंगों का दाग धोएंगे, दरअसल नरेंद्र मोदी व बीजेपी की ताइद करने वाले और बीजेपी के हक में इजलास करने वाले उलेमाओं की तंज़ीम

बिजनौर के मौलाना सुहेब कासमी गुजरात के वज़ीर ए आला व बीजेपी में पीएम ओहदे के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के दामन से दंगों का दाग धोएंगे, दरअसल नरेंद्र मोदी व बीजेपी की ताइद करने वाले और बीजेपी के हक में इजलास करने वाले उलेमाओं की तंज़ीम जमात उलेमाए हिंद के कौमी सदर बिजनौर जिले के गंगोड़ा जट गांव के रहने वाले हैं।

अहम बात यह है कि वह बिजनौर से बीजेपी में टिकट के दावेदार भी हैं। मुजफ्फरनगर, मेरठ व बिजनौर जिले में इन्होंने अपने होर्डिंग्स लगाने शुरू कर दिए हैं।

आइंदा लोकसभा इंतेखबात में नरेंद्र मोदी को बीजेपी ने अपना सिपहसालार ऐलान कर दिया है। इसके साथ ही गुजरात दंगों के बाद मुसलमानो में नरेंद्र मोदी के खिलाफ मुस्लिम वोटरों की बगावत को पुर अमन करने के लिए पैंतरेबाजी शुरू हो गई है।

बीजेपी मुसलमानों में नरेंद्र मोदी की शबिह ( Image) सुधारने में जुट गई है। इसका जिम्मा जमात उलेमाए हिंद को सौंपा गया है। नरेंद्र मोदी की सभी इजालास में इस तंज़ीम से जुड़े उलेमा शिरकत कर रहे हैं और नरेंद्र मोदी के हिंदुत्ववादी चेहरे पर तरक्की व सेक्युलिरजम का घोल चढ़ाने में लगे हैं।

सबसे बड़ी बात यह है कि इस मुहिम की कियादत बिजनौर जिले के मौलाना सुहेब कासमी कर रहे हैं। सुहेब कासमी गंगोड़ा जट गांव के रहने वाले हैं और इस वक्त दिल्ली में रह रहे हैं। ये बिजनौर से बीजेपी में टिकट के दावेदार भी हैं।

जमीयत उलेमाए हिंद के कौमी सदर मौलाना सुहेब कासमी का कहना है कि बीजेपी ही मुसलमानो की सच्ची हमदर्द है। पिछले साठ सालों से दूसरी पार्टी ने बीजेपी को कुछ नहीं दिया है।

कर्नाटक, गुजरात, मध्यप्रदेश में उनके मुहिम का असर दिखा है। यूपी के मुसलमानो को बेदार किया जा रहा है। नरेंद्र मोदी के इक्तेदार में सभी तब्कात का मुंसिफाना तौर पर तरक्की होती है यह बात हर मुसलमानों को बताई जा रही है।

कासमी का कहना है कि दूसरी पार्टी मुस्लिमों को बीजेपी का खौफ दिखाकर वोट बैंक के तौर पर इस्तेमाल कर रहे हैं, जबकि बीजेपी की हुकूमत में मुसलमानो की तरक्की होती है। दंगे नहीं होते हैं।

——————बशुक्रिया: अमर उजाला

TOPPOPULARRECENT