Wednesday , September 19 2018

मोदी की वजह दिल्ली में मिली नाकामयाबी : नीतीश

बिहार के वज़ीरे आला नीतीश कुमार ने मुल्क के चार रियासतों दिल्ली, छत्तीसगढ, मध्यप्रदेश और राजस्थान के एसेम्बली इंतिख़ाब रिजल्ट को कांग्रेस मुखालिफ बताते हुए आज कहा कि नरेंद्र मोदी की वजह दिल्ली में भाजपा हुकूमत बहुमत पाने में नाका

बिहार के वज़ीरे आला नीतीश कुमार ने मुल्क के चार रियासतों दिल्ली, छत्तीसगढ, मध्यप्रदेश और राजस्थान के एसेम्बली इंतिख़ाब रिजल्ट को कांग्रेस मुखालिफ बताते हुए आज कहा कि नरेंद्र मोदी की वजह दिल्ली में भाजपा हुकूमत बहुमत पाने में नाकाम रही।

जदयू के सीनियर लीडर नीतीश ने आज यहां सहाफ़ियों से बात करते हुए कहा कि इसमें कोई शक नहीं है कि ये इंतिख़ाब रिजल्ट कांग्रेस मुखालिफ हैं, पर इसमें भाजपा के लिए कोई खुशी की बात नहीं है। भाजपा के क़ायेदीनों के इन एसेम्बली इंतिख़ाब में अपनी पार्टी की जीत के लिए अपने वज़ीरे आजम ओहदे के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी को क्रेडिट देने के बारे में पूछे जाने पर नीतीश ने इसे खारिज करते हुए कहा कि भाजपा के लोग और क्या कह सकते हैं।

उन्होंने कहा कि भाजपा क्या कहती है यह अहम नहीं है बल्कि यह अहम यह है कि क्या दिखाई पड़ रहा है। नीतीश ने कहा कि यह तो ब्लोअर की हवा है, लहर क्या रहेगी और यह साबित हो गया दिल्ली के विधानसभा में। उन्होंने कहा कि भाजपा की तरफ से नरेंद्र मोदी को वज़ीरे आजम ओहदे का उम्मीदवार का ऐलान किए जाने की तरफ इशारा करते हुए नीतीश ने कहा कि उस पार्टी ने जो जुआ खेला वह उसे ले डूबा। दिल्ली की इसकी मिसाल है।

नीतीश ने कहा कि छत्तीसगढ, मध्यप्रदेश और राजस्थान में भाजपा को छोडकर कांग्रेस का कोई ऑप्शन नहीं था। इसलिए वह वहां जीती, पर दिल्ली में आवाम के लिए इन दोनों पार्टियों के अलावा तीसरा ऑप्शन आम आदमी पार्टी थी। ऐसे में कांग्रेस मुखालिफ माहौल होने के बावजूद भाजपा वहां हुकूमत बनाने में नाकाम रही। उन्होंने दिल्ली एसेम्बली इंतिख़ाब में आम आदमी पार्टी की जीत के लिए उसे मुबारक देते हुए कहा कि गांधीवादी अन्ना हजारे के बदउनवानी मुखालिफ तहरीक का फायदा मिला।

TOPPOPULARRECENT