Wednesday , December 13 2017

मोदी की सताइश पर महबूबा मुफ़्ती और सुषमा स्वराज में लफ़्ज़ी जंग

तनाज़ा में उम्र अबदुल्लाह की शमूलीयत से दिलचस्प मोड़, पी डी पी लीडर की जानिब से अप्पोज़ीशन लीडर के दावा की तरदीद

तनाज़ा में उम्र अबदुल्लाह की शमूलीयत से दिलचस्प मोड़, पी डी पी लीडर की जानिब से अप्पोज़ीशन लीडर के दावा की तरदीद
श्रीनगर । 20 । सितंबर (पी टी आई) पी डी पी लीडर महबूबा मुफ़्ती की जानिब से गुजरात के चीफ़ मिनिस्टर नरेंद्र मोदी की तारीफ़-ओ-सताइश किए जाने से मुताल्लिक़ बी जे पी लीडर सुषमा स्वराज के दावा के सबब दो ताक़तवर ख़ातून सियासतदानों के दरमयान बेहस-ओ-तकरार का आग़ाज़ होगया है और इस तनाज़ा में चीफ़ मिनिस्टर जम्मू-ओ-कश्मीर उम्र अबदुल्लाह के शामिल होने के बाद ये मुआमला एक दिलचस्प मोड़ इख़तियार कर गया । महबूबा मुफ़्ती ने दिल्ली में क़ौमी यकजहती कौंसल के हालिया इजलास में गुजरात के चीफ़ मिनिस्टर की सताइश करने की तरदीद की है और दावा किया कि इन के रिमार्कस को मतन-ओ-मफ़हूम से हट कर पेश किया गया है । महबूबा ने कहा कि मोदी की सताइश से मुताल्लिक़ उन से मंसूब रिमार्कस ग़ैर दरुस्त हैं और ये बड़ी बदबख़ती की बात है कि अप्पोज़ीशन लीडर (सुषमा स्वराज) ने मेरे रिमार्कस को ग़लत अंदाज़ में ब्यान किया है लेकिन सुषमा स्वराज ने पी डी पी लीडर की वज़ाहत का फ़ौरी जवाब दिया और दावा किया कि अहमदाबाद में मोदी के बरत के मुक़ाम पर उन्हों ने महबूबा के रिमार्कस को बिलकुल सही अंदाज़ में ब्यान किया है। सुषमा स्वराज ने कहा कि नई दिल्ली में हालिया मुनाक़िदा क़ौमी यकजहती कौंसल के इजलास में पी डी पी लीडर ने चीफ़ मिनिस्टर गुजरात के अख़लाक़-ओ-कारकर्दगी की सताइश की थीं। इस दौरान उम्र अबदुल्लाह ने भी सुषमा । महबूबा तनाज़ा मैं ख़ुद को शामिल करलिया और कहा कि ये बड़ी हैरत की बात है कि पी डी पी लीडर ने ये जानते हुए भी कि उन्हों ने जो कुछ कहा था वो दूसरों ने भी सुना था, अब अपने रिमार्कस की तरदीद कर रही हैं। उम्र अबदुल्लाह ने कहा कि महबूबा की जानिब से मोदी की सताइश पर मुझे कोई ताज्जुब नहीं है क्योंकि वो जिस की चाहें सताइश करसकती हैं लेकिन हैरत इस बात पर है कि महबूबा ने ये जानते हुए भी कि उन्हों ने जो कुछ भी कहा है दूसरों ने सुना है, अब अपने रिमार्कस की तरदीद कर रही हैं। उम्र अबदुल्लाह ने मज़ीद कहा कि वो (महबूबा मुफ़्ती) इस मुआमला पर तरदीद करने के बजाय एतराफ़ क्यों नहीं करतीं। उम्र अबदुल्लाह ने कहा कि महबूबा के लिए किया ही बेहतर होता कि वो सुषमा स्वराज को दरोग़ गो कहने के बजाय अपने रिमार्कस को क़बूल कर लेतीं। सुषमा स्वराज ने कहा कि वो अपने तबसरों पर बदस्तूर क़ायम हैं क्योंकि महबूबा ने 100 से ज़्यादा नुमाइंदों की मौजूदगी में ये रिमार्कस किए थे में सिर्फ उन ही बातों का हवाला दी हूँ जो उन्हों ने 10 सितंबर को क़ौमी यकजहती इजलास के दोपहर के सैशन के दौरान किए थे। सुषमा स्वराज ने अपने ट्वीटर ब्लॉग पर मज़ीद कहा कि ये कोई बाहमी या शख़्सी गुफ़्तगु नहीं थी । महबूबा मुफ़्ती ने अपने रिमार्कस पर पैदा शूदा तनाज़ा को ख़तन करने के लिए मर्कज़ से उन मुज़ाकरात का मतन जारी करने का मुतालिबा किया है । मर्कज़ी मोतमिद दाख़िला आर के सिंह ने कहा कि क़ौमी यकजहती कौंसल के इजलास की रुवेदाद तमाम अरकान को पेश की जाएगी । मिस्टर सिंह ने मज़ीद कहा कि क़ौमी यकजहती कौंसल के इजलास की रुवेदाद हमेशा ही तमाम अरकान को फ़राहम की जाती है और इस मर्तबा भी ऐसा किया जाएगा। कांग्रेस की तर्जुमान रेनूका चौधरी ने नई दिल्ली में कहा कि उन्हें नहीं मालूम कि सुषमा स्वराज ने आख़िर किस तरह महबूबा को मोदी के बारे में रिमार्कस करते हुए सुन लिया था और अगर महबूबा अब इस बात की तरदीद करती हैं तो उन के अलफ़ाज़ का एहतिराम किया जाना चाहीए । रेनूका चौधरी ने मज़ीद कहा कि मोदी से ये पूछा जाना चाहीए कि आया उन्हें आइन्दा आम इंतिख़ाबात में बी जे पी की तरफ़ से वज़ारत अज़मी के उम्मीदवार की हैसियत से पेश किया जा रहा है और आया उन्हों ने आइन्दा असैंबली इंतिख़ाबात में मुक़ाबला ना करने का फ़ैसला करलिया है । अगर मोदी ही बी जे पी में वज़ारत अज़मी के उम्मीदवार बन गए हैं तो क्या इस पार्टी ने बिहार में चीफ़ मिनिस्टर के ओहदा के लिए नए उम्मीदवार का इंतिख़ाब करलिया है।

TOPPOPULARRECENT