Tuesday , December 12 2017

मोदी के रिमार्कस गुमराह ज़हनियत के अक्कास माज़रत की जाये

अहमदाबाद, 13 जुलाई: ( पी टी आई ) चीफ मिनिस्टर गुजरात नरेंद्र मोदी ने 2002 के गुजरात फ़सादाद की बिलवासता मदाफ़िअत ( ताईद) करते हुए और ये कहते हुए कि मैने जो कुछ किया था सही किया था एक सियासी तूफ़ान बरपा कर दिया है ।

अहमदाबाद, 13 जुलाई: ( पी टी आई ) चीफ मिनिस्टर गुजरात नरेंद्र मोदी ने 2002 के गुजरात फ़सादाद की बिलवासता मदाफ़िअत ( ताईद) करते हुए और ये कहते हुए कि मैने जो कुछ किया था सही किया था एक सियासी तूफ़ान बरपा कर दिया है ।

उन्होंने ये भी कहा था कि वो हिंदू क़ौम परस्त हैं। मोदी के इस बयान पर तकरीबन तमाम सियासी जमाअतों बिशमोल कांग्रेस समाजवादी पार्टी सी पी आई एम सी पी आई और जे डी यू ने शदीद तन्क़ीद की है । इन तमाम जमाअतों ने इस रिमार्क पर भी शदीद एतराज़ किया है कि अगर गाड़ी के पाहिए में कुत्ते का बच्चा भी आ जाए तो अफ़सोस होता है ।

समाजवादी पार्टी ने इल्ज़ाम आइद किया कि नरेंद्र मोदी मुसलमानों का तक़ाबुल कुत्तों से कर रहे हैं। कांग्रेस और समाजवादी पार्टी ने उन से मुतालिबा किया कि वो फ़ौरी तौर पर क़ौम से माज़रत ख़्वाही करें। मोदी पर तन्क़ीद करते हुए कांग्रेस ने आज कहा कि मोदी के रिमार्कस उनकी ज़हनी पस्ती को ज़ाहिर करते हैं और ये हिंदुस्तान के ख़्याल से बिलकुल मुख़्तलिफ़ हैं।

कल हिंद कांग्रेस के महकमा मुवासलात के सरबराह अजय माकेन ने कहा कि गुजरात में 2002 के फ़सादाद में हज़ारों अफ़राद की जानें तलफ़ हुईं । उस पस-ए-मंज़र में नरेंद्र मोदी ने जो लब-ओ-लहजा इख्तेयार किया है उसकी शदीद मुज़म्मत की जानी चाहीए ।

हिंदुस्तान में इस तरह के तक़ाबुल की कोई गुंजाइश नहीं है । माकीन ने याद दहानी करवाई कि गुजरात फ़सादाद के बाद उस वक़्त के बी जे पी वज़ीर आज़म अटल बिहारी वाजपाई ने मोदी से कहा था कि वो राज धर्म की पाबंदी करें । उन्होंने कहा कि हाल ही में चीफ मिनिस्टर गोवा मनोहर पर्रीकर ने भी कहा था कि फ़सादाद दर असल नाकाम तर्ज़ हुक्मरानी के नमूने होते हैं।

माकीन ने कहा कि हिंदुस्तान वो नहीं है जो मोदी समझते हैं। समाजवादी पार्टी के तर्जुमान कमाल फ़ारूक़ी ने कहा कि ये इंतिहाई अफ़सोस और बेइज़्ज़ती की बात है और तकलीफ़देह बयान है । उन्होंने कहा कि मोदी क्या समझते हैं ?

क्या वो मुसलमानों को कुत्तों के बच्चों से ज़्यादा अबतर समझते हैं ? क्या उन के लिए उन्हें कोई दिल है । उन्हें तकलीफ़ होती है ? । उन्हें क़ौम से माज़रत करनी चाहीए । फ़ारूक़ी ने कहा कि इस तरह की ज़ुबान इस्तेमाल करने पर मोदी को शर्म आनी चाहीए । उन्होंने कहा कि जितनी जल्दी मोदी माज़रत करेंगे इतना ही अच्छा होगा बसूरत दीगर इस के संगीन अवाक़िब होंगे ।

कांग्रेस लीडर-ओ-वज़ीर ख़ारेजा सलमान ख़ूर्शीद ने कहा कि मोदी बतदरीज ख़ुद अपने ही दुश्मन बनते जा रहे हैं। अगर मोदी ये समझते हैं कि उनके बयान को तोड़ मरोड़ कर पेश किया जा रहा है तो उन्हें कम बात करनी चाहीए । मोदी पर तन्क़ीद करते हुए सी पी एम की लीडर बृंदा करत ने कहा कि मोदी को अफ़सोस का इज़हार भी करने नहीं आया है ।

जो कुछ वो कह रहे थे वह बुनियाद तौर पर ग़लत है । उन्हों ने कहा कि मोदी ने जो कुछ कहा है वो शर्मनाक है और वो एक क़ौम के नसली सफाया की मदाफिअत कर रहे हैं और गैर इंसानी मिसालें पेश कर रहे हैं। उन्हें अपने तजज़िया पर भी शर्म आनी चाहीए । उन्होंने कहा कि उन की मआशी पालिसीयां भी ऐसी हैं जिन से मुसलमानों से नाइंसाफ़ीयाँ हो रही हैं।

सी पी आई के लीडर डी राजा ने मोदी के रिमार्कस को मुल्क के आवाम को गुमराह करने और हिंदुस्तानी आवाम को चकमा देने की कोशिश क़रार दिया है । जनतादल यू के लीडर शिवावा नंद तिवारी ने मोदी पर तन्क़ीद की और कहा कि इनका नफ़सियाती मुआइना करवाया जाना चाहीए ।

उन्होंने कहा कि अगर इस तहर का कोई शख़्स मुल्क का वज़ीर ए आज़म बन जाता है तो ये बहुत ही ख़तरनाक सूरत-ए-हाल होगी । बी जे पी की तर्जुमान सीतारमन ने मोदी की मदाफिअत करने की कोशिश की और कहा कि उन के रिमार्कस को तोड़ मरोड़ कर पेश किया गया है जिस के नतीजा में एक गैर ज़रूरी तनाज़ा पैदा हो गया है ।

अपने इंटरव्यू में मोदी ने इंतिहाई अफ़सोसनाक बकवास की है और कहा कि गुजरात में 2002 में उन्होंने जो कुछ किया था वो दुरुस्त था और उन्हें इस पर कोई अफ़सोस नहीं है ।

TOPPOPULARRECENT