Saturday , December 16 2017

मोदी कैबिनेट में सिर्फ एक मुस्लिम चेहरा हैं नजमा हेपतुल्ला

फ्रीडम फाइटर मौलाना अब्दुल कलाम आजाद की प्रपौत्री नजमा हेपतुल्ला नरेंद्र मोदी सरकार की कैबिनेट में महज एक मुस्लिम चेहरा हैं | एक वक्त मे राज्यसभा में कांग्रेस की चीफ मेम्बर रहीं नजमा ने 2004 में पार्टी के आली कियादत से रिश्तों में

फ्रीडम फाइटर मौलाना अब्दुल कलाम आजाद की प्रपौत्री नजमा हेपतुल्ला नरेंद्र मोदी सरकार की कैबिनेट में महज एक मुस्लिम चेहरा हैं | एक वक्त मे राज्यसभा में कांग्रेस की चीफ मेम्बर रहीं नजमा ने 2004 में पार्टी के आली कियादत से रिश्तों में दरार के बाद बीजेपी का दामन थाम लिया था |

1986 से 2012 तक पांच बार ऐवान ए बाला में नुमाइंदगी कर चुकीं नजमा 1985 में एक साल के लिए राज्यसभा की डिप्टी स्पीकर भी रहीं. 1988 से 2004 के बीच तक वह एक बार फिर इस ओहदा पर रहीं |

बीजेपी में कद बढ़ने के साथ पार्टी ने उन्हें नायब सदर जम्हूरिया के लिए हामिद अंसारी के सामने उम्मीदवार बनाया था हालांकि वह चुनाव हार गयीं |

जब नितिन गडकरी 2010 में बीजेपी के सदर बने तो वह पार्टी के 13 नायबसदरो में एक थीं |

राजनाथ सिंह के सदर बनने के बाद वह सुर्खियों से दूर हो गयीं थीं उन्हें नायब सदर के ओहदा से हटा दिया गया था और पार्टी का National Executive का मेम्बर बनाया गया |

74 साला नजमा मुसन्निफा के तौर पर Several research papers लिख चुकी हैं |

TOPPOPULARRECENT