मोदी जी अगले 6-7 महीने में आप जाने वाले हैं, जाते-जाते ही बता दीजिए अच्छे दिन कब आने वाले हैं

मोदी जी अगले 6-7 महीने में आप जाने वाले हैं, जाते-जाते ही बता दीजिए अच्छे दिन कब आने वाले हैं

नई दिल्ली: संसद के मॉनसून सत्र के तीसरे दिन आज लोकसभा में मोदी सरकार के खिलाफ पहले अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग हुई। इस वोटिंग में विपक्ष के 126 के मुकाबले मोदी सरकार को 325 वोट मिले। बता दें कि बुधवार को टीडीपी सांसद की ओर से लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने मंजूर किया था, जिसके बाद उस पर चर्चा के लिए शुक्रवार का दिन तय हुआ था।

संसद के मॉनसून सत्र का तीसरा दिन काफी अहम रहा। शुक्रवार को विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव पर सदन में बहस हुई। इस दौरान विपक्ष ने मोदी सरकार पर कई आरोप लगाए, वहीं मोदी सरकार ने अपने संबोधनों में विपक्ष के आरोपों का जवाब दिया। मगर आम आदमी पार्टी के नेता और सांसद भगवंत मान ने भी मोदी सरकार पर हमला बोलने का मौका नहीं चूके। वह भी मौके का फायदा उठाते हुए एलजी से लेकर मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा और पूछा कि मोदी जी 4-5 महीनो में आप जाने वाले हैं, अब तो बता दो अच्छे दिन कब आने वाले हैं ?

अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में बोलते हुए आप सांसद भगवंत मान ने कहा कि बीजेपी वाले क्या दिल्ली को देश का हिस्सा नहीं मानते? दिल्ली में चुना हुआ मुख्यमंत्री नौ दिनों तक एलजी के आवास पर मिलने के लिए बैठे रहे, मगर नौ मिनट तक नहीं मिले। क्या ये लोकतंत्र है। चार राज्यों के मुख्यमंत्री आए, उनसे भी एलजी नहीं मिले. एलजी जिस आवास में रहते हैं वहां पहले वायसराय रहते थे, लगता है कि एलजी साहब के भीतर वायसराय की आत्मा घुस गई है। क्या लाट साहब के डंडे से दिल्ली चलाओगे. क्या यही लोकतंर् है. ये गोवा में भी और अरुणाचल प्रदेश में भी यही करते हैं।

आप नेता और सांसद भगवंत मान ने कहा कि ”पिछले दिनों पीएम पंजाब के दौरे पर गये, मगर वह 90 सेकेंड तक भी अपने सिर पर पगड़ी नहीं रख पाए। इससे पता चलता है कि उन्हें मायनॉरिटी की कितनी कद्र है। आज हिंदू-मुस्लिम पर डिबेट हो रहे हैं। आज देश में विभाजन की राजनीति हो रही है. सरकार बोल कर आई थी, बहुत हुई महंगाई की मार, अबकी बार मोदी सरकार. अब कहां गये सरकार के वादे। मैं अपनी बात एक कविता पढ़कर बैठ जाऊंगा। मगर कृपया कोई घंटी मत बजाना. फिर डिस्टर्ब हो जाता है…”

यहां पढ़ें भगवंत मान की संसद में पढ़ी गई कविता…

बात चली थी भारत को डिजिटल इंडिया बनाने से
बात चली थी भारत को डिजिटल इंडिया बनाने से
बात चली थी एक के बदले 10 सर काट कर लाने से
बात चली थी बुलेट ट्रेन चलाने से
बात चली थी 56 इंच का सीना दिखाने से
बात चली थी न खाने से न खिलाने से
कहां गई वो 100 दिन में काले धन की बात
पिछले 4 साल से देश की जनता सुन रही है रेडियो पर सिर्फ मन की बात
चौकीदार देख रहा है और लोग बैंक को चूना लगा कर भगौड़े हो रहे हैं
और लाखों पढ़े लिखे नौजवानों के सपने आंखों के सामने पकौड़े हो रहे हैं
अब तो साहब के ऑफिस से मेन्यू बन कर आता है कि हमने क्या पहनना है और हम क्या खाने वाले हैं
मोदी जी अगले 6-7 महीने में आप जाने वाले हैं, कृपया जाते-जाते ही बता दीजिए अच्छे दिन कब आने वाले हैं।

Top Stories