Monday , December 11 2017

मोदी ने कहा, कोयला का सबसे बड़ा भंडार अंधेरे में डूबा है

भाजपा के पीएम ओहदे के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने आज विजय संकल्प रैली में आवाम को खिताब करते हुए कहा कि झारखंड कुर्बानी की ज़मीन है। मोदी ने कहा कि यह रियासत दुनिया के खुशहाल रियासत की तरह हो सकता है। झारखंड में बेपनाह कुदरती ईमलाक ह

भाजपा के पीएम ओहदे के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने आज विजय संकल्प रैली में आवाम को खिताब करते हुए कहा कि झारखंड कुर्बानी की ज़मीन है। मोदी ने कहा कि यह रियासत दुनिया के खुशहाल रियासत की तरह हो सकता है। झारखंड में बेपनाह कुदरती ईमलाक है। उन्होंने मरकज़ी हुकूमत पर हमला करते हुए कहा कि झारखंड की आवाज दिल्ली सल्तनत ने नहीं सुनी। 50 साल तक झारखंड को अनदेखा किया गया। अमीर रियासत की गोद में गुरबत पल रही है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि झारखंड पर गलत लोगों ने हुकूमत की।

कांग्रेस पर हमला बोलते हुए मोदी ने कहा कि 2014 का आम इंतिख़ाब अवामी तहरीक बन जाएगा। झारखंड के किस्मत का फैसला भाजपा ही कर सकती है। कांग्रेस आवाम की आंखों में धूल झोंकने की कोशिश न करे। मोदी ने कहा कि कांग्रेस के भरोसे झारखंड की किस्मत नहीं बदल सकता है। कांग्रेस को न तरक़्क़ी की फिक्र है न इक्तिदार की। कांग्रेस के पॉलिसियों से झारखंड पसमांदा है।

उन्होंने कहा कि13 साल में तो बहुत कुछ बदल जाता है। लेकिन कांग्रेस के भरोसे झारखंड की किस्मत नहीं बदल सकता है। उन्होंने सवाल किया, झारखंड में गुरबत क्यों है। यहां बेपनाह कुदरती इमलाक है, फिर भी तरक़्क़ी में पीछे है।

नक्सकलियों से मेन स्ट्रीम में लौटने की दरख्वास्त

राजनाथ सिंह ने आवाम को खिताब करते हुए कांग्रेस पर जमकर हमला किया। उन्होंने कहा कि झारखंड को अलग रियासत करने का सेहरा साबिक़ वजीरे आजम अटल बि‍हारी वाजपेयी को जाता है। ऐसी रैली मैंने झारखंड में नहीं देखी लोगों को देख कर लगता है कि यह रैला है। राजनाथ सिंह ने नक्सकलियो से मेन स्ट्रीम में लौटने की दरख्वास्त किया।

उन्होंने झारखंड के शहीदों को याद किया साथ ही उनके कहानियों को लोगों के सामने रखा। उन्होंने खेल से जुड़े महेंद्र सिंह धौनी और तीरंदाज दीपिका कुमारी की भी तारीफ की। इससे पहले रियासत के सदर रविंद्र राय ने राजनाथ सिंह का और रियासत के साबिक़ वजीरे आला अर्जुन मुंडा ने नरेंद्र मोदी को इजाज किया। मंच से भाजपा के कई क़ायेदीनों ने अवाम को खिताब किया। रैली के लिए बनाए गए स्टेज को संसद का तस्वीर दिया गया है। इससे पहले मोदी के छत्तीसगढ़ में एक रैली में बनाए गए स्टेज को लाल किला की तस्वीर दिया गया था।

इससे पहले इतवार को सुबह आठ बजे से ही लोग रैली मुकाम पर जुटने लगे थे। सुबह 11 बजे से एक घंटे तक कल्चरल प्रोग्राम हुआ। इसके बाद भाजपा के मुक़ामी लीडर तक़रीर देना शुरु किया था। गौरतलब है कि विजय संकल्प रैली को लेकर सेक्युर्टी की तैयारी पूरी कर ली गयी थी. सनीचर को मैदान और उसके आसपास के इलाक़े में सेक्युर्टी निज़ाम को लेकर मॉक ड्रील के बाद जवानों की तैनाती कर दी गयी।

TOPPOPULARRECENT