Saturday , November 18 2017
Home / Delhi / Mumbai / मोदी मुसलमानों के संप्रदाय विशेष का समर्थन नहीं करते

मोदी मुसलमानों के संप्रदाय विशेष का समर्थन नहीं करते

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री नजमा हेपतुल्ला ने इन आरोपों को खारिज कर दिया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुसलमानों के केवल एक विशेष समुदाय का ही समर्थन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री प्रत्येक व्यक्ति को समान दृष्टि से देखते हैं क्योंकि वे सारे देश के प्रधानमंत्री हैं किसी वर्ग के संप्रदाय विशेष तक सीमित नहीं है। नजमा हेपतुल्ला ने कहा कि प्रधानमंत्री के लिए सबसे बराबर हैं। इसीलिए उन्हें किसी विशेष समुदाय तक सीमित करने की कोशिश उचित नहीं है।

संवाददाता सम्मेलन के दौरान मीडिया के प्रतिनिधियों के सवाल पर उन्होंने यह बात कही। नजमा हेपतुल्ला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विश्व सूफी मंच में भाग लेते हैं और फिर सऊदी अरब यात्रा के बारे में सवाल पूछे जाने पर कहा कि प्रधानमंत्री जब बाहरी यात्रा पर होते हैं तो वे सारे देश का प्रतिनिधित्व करते हैं। एक संप्रदाय विशेष की नहीं। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी एक वर्ग, समुदाय या राजनीतिक दल से संबंध नहीं रखते बल्कि पूरे देश के हैं।

वह सऊदी अरब का दौरा या अमेरिका या कहीं और जाएँ जब वे बाहरी यात्रा पर होते हैं तो वे सारे देश का प्रतिनिधित्व करते हैं। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी की सूफी सम्मेलन में भाग लेने और सऊदी अरब दौरा मुसलमानों में फूट नहीं होगा बल्कि यह समाप्त होगा। उन्होंने सऊदी अरब के प्रतिष्ठित नागरिक सम्मान का भी हवाला दिया और कहा कि यह आपसी बंटवारे को खत्म करने का संकेत है। उन्होंने नरेंद्र मोदी की इस यात्रा को आतंकवाद से निपटने के मामले में शामिल बताया है।

उन्होंने बताया कि इस यात्रा के दौरान भारत के हज कोटा में 20 प्रतिशत कटौती का मुद्दा भी उठाया गया। जब उनसे पूछा गया कि क्या इस यात्रा में वे शामिल रहती तो ज्यादा बेहतर होता। नजमा हेपतुल्ला ने कहा प्रधानमंत्री जब कभी बाहरी दौरे पर जाते हैं तो किसी को भी अपने साथ नहीं ले जाते और उनका इस यात्रा में मौजूद रहना चाहिए क्योंकि मोदी जो कुछ कह रहे हैं वह उनके (नजमा हेपतुल्ला) की आवाज है ऐसे में मुझे जाने की जरूरत है।

TOPPOPULARRECENT