Thursday , November 23 2017
Home / Bihar News / मोदी व जेटली दोनों फ्रॉड, हिमायत करने का कुफ़्फ़ारा : राम जेठमलानी

मोदी व जेटली दोनों फ्रॉड, हिमायत करने का कुफ़्फ़ारा : राम जेठमलानी

पटना: राज्यसभा मेम्बर और जाने-माने वकील राम जेठमलानी ने वजीरे आजम नरेंद्र मोदी और फाइनेंस वज़ीर अरूण जेटली को फ्रॉड बताते हुए कहा कि मैं इन धोखेबाजों का शिकार बन गया। आगे कहा कि इन्हें हिमायत करने का आज मैं कुफ़्फ़ारा कर रहा हूं। जेठमलानी ‘भारतीय साबिक़ सैनिक तंजीम’ की तरफ से वन रैंक वन पेंशन (ओआरओपी) पर मुनक्कीद प्रोग्राम को खिताब कर रहे थे।

उन्होंने भाजपा के आला कियादत पर बाइरून मुल्क़ से ब्लैक मनी लाने के लिए कोई पहल नहीं करने का इल्ज़ाम लगाया। पूरा साल गुजर गया, लेकिन 90 लाख करोड़ में एक डॉलर तक मुल्क में नहीं आया, जबकि इंतिख़ाब के पहले भाजपा का यह सबसे कोर मुद्दा हुआ करता था। इसे अवाम के साथ धोखाधड़ी बताते हुए कहा कि उन्हें इस बात पर आज शर्म महसूस हो रही है कि कभी उन्होंने ऐसे लोगों की मदद की थी। जेठमलानी के खिताब के बाद इस तंजीम के मुशीर समेत दीगर साबिक़ सैनिक मौजूदा भाजपा सरकार पर ओआरओपी के नाम पर उनके साथ धोखाधड़ी करने का इल्ज़ाम लगा रहे थे। साथ ही मौजूद एसेम्बली इंतिखाब में इन्हें वोट नहीं करने की दरख्वास्त कर रहे थे। तभी लोगों के दरमियान बैठे रिटाइर्ड लेफ्टिनेंट कर्नल अनिल सिन्हा मुश्तईल हो कर मुखालिफत करने लगे।

उनकी एतराज़ थी कि इस प्रोग्राम को सियासी रंग क्यों दिया जा रहा है। इसमें भाजपा को इंतिख़ाब में मुखालिफत करने की बात क्यों कही जा रही है।

ले.कर्नल सिन्हा के इस मुखालिफत के बाद तंजीम के कुछ हिमायती भी मुश्तईल होकर इन्हें प्रोग्राम से निकालने की बात करने लगे। इस दौरान कर्नल सिन्हा के साथ कई हिमायतों ने धक्का-मुक्की भी की। इस दौरान जेठमलानी ने कहा कि वे सैनिकों को ओआरओपी का वाजिब हक दिला कर रहेंगे। सरकार के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में सैनिकों की तरफ से मुफ्त में मुकदमा लड़ेंगे।

सीनियर वकील जेठमलानी ने कहा कि अगर मैं दो-तीन साल रह गया, तो बाइरून मुल्क से ब्लैक मनी लाने के लिए हर मुमकिन कोशिश करूंगा। तंजीम के रिटाइर्ड मेजर जनरल सतबीर सिंह ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने जो ओआरओपी लागू किया है, उसमें सात गलतियाँ मौजूद हैं। इसे दूर किये बिना इसका सही मायने में फायदा रिटाइर्ड सैनिकों को नहीं मिलेगा। इसके मुखालिफत में 112 दिन से दिल्ली के जंतर-मंतर में धरना चल रहा है, लेकिन सरकार के किसी नुमाइंदे ने आकर बात नहीं की। इस दौरान रिटाइर्ड मेजर वीके गांधी, पीसी पंजिकर, कामेश्वर पांडेय समेत दीगर मौजूद थे।

 

TOPPOPULARRECENT