Monday , December 11 2017

मोदी संसद से इस्तीफा दे कर दोबारा अपनी लोकप्रियता साबित करके दिखायें: अतुल कुमार अंजान

नई दिल्ली। कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (सीपीआई) के राष्ट्रीय सचिव अतुल कुमार अंजान ने एप द्वारा मतदान में 90 प्रतिशत से अधिक लोगों का नोटबंदी के पक्ष में राय देने के दावे को ‘निराधार झूठ’ क़रार देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुनौती दी है कि अगर वह खुद को वास्तव में इतना लोकप्रिय समझ रहे हैं तो संसद की सदस्यता से इस्तीफा देकर फिर से चुनाव जीत कर दिखाएं।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

न्यूज़ नेटवर्क समूह प्रदेश 18 के अनुसार श्री अंजान ने कहा कि मोदी सरकार रेटिंग वोट के नाम पर लोगों को गुमराह करने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार पांच लाख लोगों की राय शुमारी के आधार पर दावा कर रही है कि 93% लोगों ने नोटबंदी के पक्ष में राय दी है लेकिन समाचार चैनलों और अखबारों में छपी रिपोर्ट इसके विपरीत वास्तविकता बयान कर रही हैं। शहर हो या गांव हर जगह लोग नोटबंदी से परेशान और बेहाल नजर आ रहे हैं। अब तक 75 से अधिक लोग इस नोटबंदी की वजह से मौत का सामना कर चुके हैं।
भाकपा नेता ने कहा कि अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपनी लोकप्रियता पर इतना ही विश्वास है तो उन्हें संसद की सदस्यता से इस्तीफा दे देना चाहिए और वाराणसी से फिर चुनाव लड़ कर अपनी लोकप्रियता साबित करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को इस्तीफा देकर इसी तरह मिसाल कायम करनी चाहिए जैसा कि उनके ‘दोस्त’ ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री डेविड कैमरून ने बरिकज़ट जनमत में अपनी हार के बाद किया था।
श्री अंजान ने प्रधानमंत्री मोदी के नोटबंदी के फैसले को ‘आर्थिका आतंकवाद’ करार देते हुए कहा कि इस फैसले से किसान, खेत मजदूर, दस्त कार, असंगठित क्षेत्र के कार्यकर्ता और आम आदमी हर कोई परेशान है। व्यापार ठप हो गया है और छोटे कारखाने बंद पड़े हैं।

TOPPOPULARRECENT