मोदी सरकार को बड़ा झटका, NDA से अलग हुआ अकाली दल

मोदी सरकार को बड़ा झटका, NDA से अलग हुआ अकाली दल

मोदी सरकार के जरिए लाए गए कृषि बिल का देश में विरोध देखा जा रहा है. किसानों के साथ विपक्ष की ओर से भी मोदी सरकार के कृषि बिल का विरोध किया जा रहा है. इस बीच मोदी सरकार को उसके सहयोगी दल शिरोमणि अकाली दल ने एक और झटका दे दिया है. कृषि बिल के विरोध में शिरोमणि अकाली दल ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) का साथ छोड़ दिया है.

शिरोमणि अकाली दल की ओर से काफी वक्त पहले से ही मोदी सरकार के जरिए लाए गए कृषि बिलों का विरोध किया जा रहा है. विरोध के चलते अकाली दल की नेता हरसिमरत कौर बादल ने पहले ही केंद्रीय मंत्री पद से इस्तीफा सौंप दिया था. हालांकि तब अकाली दल का एनडीए को समर्थन जारी था लेकिन अब अकाली दल ने कृषि बिल के विरोध में एनडीए से अलग होने का फैसला लिया है. इसके साथ ही अकाली दल ने एनडीए से समर्थन वापस ले लिया है.

अकाली दल ने कहा है कि शिरोमणि अकाली दल ने एमएसपी पर किसानों की फसलों के सुनिश्चित मार्केटिंग की रक्षा के लिए वैधानिक विधायी गारंटी देने से मना करने के कारण बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए गठबंधन से हाथ खींचने का फैसला किया है. पंजाबी और सिख मुद्दों के प्रति असंवेदनशीलता देखते हुए ये फैसला किया गया है.

अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने पार्टी की कोर कमेटी की अध्यक्षता करते हुए पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक की. जिसके बाद एनडीए से अलग होने का फैसला किया गया. इससे पहले सुखबीर सिंह बादल का कहना था कि अकाली दल के एक बम (हरसिमरत कौर बादल का इस्तीफा) ने मोदी सरकार को हिला दिया है. पिछले दो महीनों से किसानों पर कोई शब्द नहीं था, लेकिन अब 5-5 मंत्री इस पर बोल रहे हैं.

वहीं पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एनडीए छोड़ने के अकाली दल के फैसले को बादल के लिए राजनीतिक मजबूरी के एक हताश फैसला करार दिया है. सीएम अमरिंदर का कहना है कि किसान बिल पर बीजेपी की सार्वजनिक आलोचना के बाद इनके पास कोई अन्य विकल्प नहीं बचा था.

हरसिमरत कौर बादल का इस्तीफा

इससे पहले कृषि बिल पर विरोध दर्ज करवाते हुए केंद्रीय मंत्री पद से हरसिमरत कौर बादल ने इस्तीफा दे दिया था. हरसिमरत कौर बादल केंद्रीय खाद्य एवं प्रसंस्करण उद्योग मंत्री थीं. केंद्रीय खाद्य एवं प्रसंस्करण उद्योग मंत्री के पद से इस्तीफा देने के बाद हरसिमरत कौर बादल ने कहा था कि किसान विरोधी अध्यादेशों और कानून के विरोध में केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया है. किसानों के साथ उनकी बेटी और बहन के रूप में खड़े होने का गर्व है.

Top Stories