मोदी सरकार तो है ही दलितों, पिछड़ों और गरीबों की सरकार: अमित शाह

मोदी सरकार तो है ही दलितों, पिछड़ों और गरीबों की सरकार: अमित शाह

उत्तर प्रदेश: दलित वोट पर कब्ज़ा जमाने को लेकर चल रही सियासत पर शनिवार को बीएसपी सुप्रीमो मायावती और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह आमने-सामने आ गए। जहाँ मायावाती ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि बाबा साहेब के नाम पर कुछ आधे-अधूरे स्मारक बनाकर और दलितों के घरो में ठहरने से, उनके साथ खाना खाने से बीजेपी को ये गलत फहमी नहीं होनी चाहिए कि दलित वोट उसके हो जाएंगें, वहीं बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि यूपी मे बसपा ने दलितों के लिए कुछ नहीं किया, बल्कि उनका सिर्फ उपयोग किया है।

मायावती ने रोहित वेमूला का मुद्दा उठाते हुए कहा कि केंद्र में बीजेपी की सरकार बनने से दलितों के ऊपर जुर्म की वारदात ज्यादा बढ़ी है।  स्टूडेंट्स और बुद्धिजीवी तबके को भी सरकारी लेवल पर शोषण किया जा रहा है।  रोहित वेमूला का मामला इस बात का प्रमाण है, जिसे आत्महत्या करने के लिए मजबूर किया गया।  जिसके परिवार वालों को आज तक न्याय नहीं मिल पाया है। अमित शाह ने कहा कि मोदी सरकार दलितों, पिछड़ों और गरीबों की सरकार है।  उन्होंने कहा कि जनधन से करोड़ों गरीबों के बैंक खाते खुले हैं  और सरकार ने गरीबों, पिछड़ों और दलितों के लिए काफी काम किया है। सपा पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा  कि सपा जब-जब सत्ता में आई, तब तब दलितों का शोषण किया। इस बार हमारा मुकाबला सपा से है और आने वाले समय में प्रदेश की जनता सपा सरकार का सफाया कर देगी और बीजेपी का परचम लहराएगी।

Top Stories