Wednesday , September 26 2018

मोदी सरकार ने एक वादा भी पूरा नहीं किया: शरद यादव

नई दिल्ली 22 मई :जनता दल (यू )के सीनीयर नेता शरद यादव ने मोदी सरकार पर तीन साल के सत्ता के दौरान एक भी वादा पूरा करने में नाकाम रहने का इल्ज़ाम लगाते हुए कहा कि वह जनता का ध्यान असल मसाइल से हटाने के लिए ग़ैर ज़रूरी ममलात उठाती रहती है

सरकार के तीन वर्ष पर रद्द-ए-अमल करते हुए शरद यादव ने समाचार एजेंसी ‘यूएनआई’ से कहा कि भाजपा ने अपने घोषणापत्र में 42 बड़े वादे किए थे जिनके हर साल दो करोड़ युवाओं को रोजगार देना, किसानों को फसल उगने में मदद करना देश और विदेश में जमा काला धन वापिस लाकर हर ख़ानदान के खाते में पंद्रह से बीस लाख रुपये जमा करने, गंगा को आलूदगी से पाक करने के लिए और ‘सबका साथ सबका विकास’ की बात शामिल थी।

उन्होंने कहा कि सरकार के वादों के अनुसार अब तक छह करोड़ युवाओं को रोजगार मिल जाना चाहिए था लेकिन बेरोजगारों की संख्या बढ़ रही है।

साल 2014-15 के दौरान 1.35 लाख युवाओं को ही रोजगार मिला। हाल ही में इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी कंपनियों ने कर्मचारियों की कटौती कर दी। किसानों को अपनी फसलों को कम कीमत पर बिक्री करना पड़ा।

पिछले तीन साल के दौरान किसानों की आत्महत्या के वाक़ियात तेजी से बढ़े हैं खास्कर तमिलनाडु में। देश भर में वर्ष 2014 के मुक़ाबले में 2015 में किसानों की आत्महत्या के वाक़ियात में 41 प्रतिशत इज़ाफ़ा हुआ है।

शरद यादव ने कहा कि किसानों ने पिछले साल के मुक़ाबले में गेहूं और दालों की अधिक पैदावार की है।
दालों की पैदावार में 33 प्रतिशत का इज़ाफ़ा हुआ है लेकिन सरकार दालों की निजी व्यापार को बढ़ावा देने में व्यस्त है और उस पर कस्टम डयूटी भी नहीं लगा रही है जिससे किसानों में बेचैनी है।

TOPPOPULARRECENT