मोदी सरकार में 120 करोड़ भारतीयों का भविष्य सुरक्षित नहीं है- हार्दिक पटेल

मोदी सरकार में 120 करोड़ भारतीयों का भविष्य सुरक्षित नहीं है- हार्दिक पटेल

पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने एक बार फिर से मोदी सरकार पर निशाना साधा है। हार्दिक पटेल ने बाबा साहेब अंबेडकर को श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद मीडिया से बात करते हुए कहा कि देश सुरक्षित हाथों में नहीं है।

युवाओं और किसानों ने प्रधानमंत्री पर भरोसा किया लेकिन आज भारी कीमत चुका रहे हैं। उन्होंने कहा कि बाबा साहेब अंबेड़कर ने 1956 में लाखों अनुयायियों के साथ बौद्ध धर्म को गले लगा लिया था।

बता दें कि हार्दिक पटेल अपनी पहली विदर्भ यात्रा पर निकले थे, लेकिन कुछ समय के लिए नागपुर में रुके जहां विदर्भ युवा मंच द्वारा आयोजित एक रैली को संबोधित किया। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि जब मैं नागपुर हवाई अड्डे पर उतर रहा था तो यहां के सूखा प्रभावित क्षेत्रों के दृश्यों को देखकर दंग रह गया।

मुझे ऐसा लगा कि हम सभी यात्रियों की जान उडान के दौरान पायलट की दया पर है, हालांकि हमसब सुरक्षित उतरे। लेकिन देश के पायलटों के बारे में यह भी नहीं कहा जा सकता है। उन्होंने कहा कि आज 120 करोड़ भारतीयों का भाग्य सुरक्षित हाथों में नहीं है।

आपको बता दें कि हार्दिक पटेल ने राजनीति में पदार्पण करने की संभावनाओं को लेकर कहा कि- मैं एक गुजराती हूं और मुझे अपने पर गर्व है। मैं सत्ता हासिल करने के लिए गरीबों की सहानुभूति पाने के लिए झूठ का चौला नहीं पहनना चाहता हूं।

जब मुझे लगेगा कि राजनीति में आना है तो सबको बता के आऊंगा।’ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि मैं लोकतांत्रिक तरीके से अन्याय के खिलाफ आवाज उठाता हूं, लेकिन कुछ लोगों को गरीबी का दिखावा कर सहानुभूति पाने में आनंद आता है।

मैं अंबेडकर की दी गई शिक्षा से प्रेरणा लेता हूं और मुझे अन्याय के खिलाफ संघर्ष करने की शक्ति वहीं से मिलती है।

हार्दिक पटेल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की जनता को 2 करोड़ लोगों को नौकरी देने का वायदा किया था, साथ ही किसानों की आय को दोगुना करने की बात कही थी लेकिन अभी तक युवाओं और किसानों को सिर्फ निराशा ही हाथ लगा है।

उन्होंने सरकार से पूछा कि क्या किसानों को 4 प्रतिशत की व्याज दर से फसल के लिए लोन मिल पा रहा है? क्या किसान अपनी फसल बीमा प्राप्त कर पा रहे हैं?

बता दें कि एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि गुजरात में पाटीदार आन्दोलन ने युवाओं को सोचने पर जरूर विवश किया है। युवाओं, किसानों, दलितों, पिछड़ो और बेरोजगारों को यह एहसास हो गया है कि सरकार सिर्फ उनके साथ धोखा कर रही है।

हालांकि यह आन्दोलन तत्काल कोई समाधान नहीं ला सकता लेकिन लोगों के बीच में चेतना जगाने में जरूर सफल हुआ है। पटेल से पूछा गया था कि क्या पाटीदार आन्दोलन से अब तक कोई फायदा पाटीदार समूदाय को मिल पाया है।

हार्दिक पटेल ने कहा कि 2014 में देश की 125 करोड़ जनता ने प्रधानमंत्री मोदी पर भरोसा जताया था लेकिन अब देश की जनता भारी कीमत चुका रही है।

Top Stories