मोदी सरकार सांप्रदायिक हिंसा, लिंचिंग और गोरक्षा से जुड़ी घटनाओं पर अक्सर चुप रही- मनमोहन सिंह

मोदी सरकार सांप्रदायिक हिंसा, लिंचिंग और गोरक्षा से जुड़ी घटनाओं पर अक्सर चुप रही- मनमोहन सिंह
Click for full image

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए कहा कि उनका शासन भारत के लिए अच्छा नहीं है क्योंकि उन्होंने मतदाताओं का भरोसा तोड़ा है और ऐसी सरकार का नेतृत्व किया है जो देश में सांप्रदायिक हिंसा, लिंचिंग और गोरक्षा से जुड़ी घटनाओं पर अक्सर चुप रही।

पूर्व पीएम कांग्रेस नेता शशि थरूर की पुस्तक ‘द पैराडॉक्सियल प्राइम मिनिस्टर’ के विमोचन पर बोल रहे थे। उन्होंने आरोप लगाया कि मोदी सरकार के तहत देश के विश्वविद्यालयों और सीबीआई जैसे राष्ट्रीय संस्थानों को नुकसान पहुंचाया जा रहा है।

मनमोहन सिंह की यह टिप्पणी सीबीआई में फिलहाल चल रही संकट के बीच आई है। एजेंसी के दोनों शीर्ष अधिकारियों के अधिकार छीन लिए गए हैं और उन्हें छुट्टी पर भेज दिया गया है।

उन्होंने कहा कि 2014 में नरेंद्र मोदी भारत के लोगों से तमाम बड़े-बड़े दावे करके भारत के 14वें प्रधानमंत्री चुने गए लेकिन पिछले चार वर्ष में वह और उनकी सरकार मतदाताओं की आशाओं पर खरे नहीं उतरे हैं, उन्होंने मतदाताओं का यकीन तोड़ा है।

उन्होंने कहा कि मोदी ‘‘असत्यवादी प्रधानमंत्री हैं’’ और थरूर ने अपनी किताब में इसे बहुत अच्छे से लिखा है। शशि थरूर की जिस पुस्तक का विमोचन किया गया है उसका नाम ‘द पैराडॉक्सियल प्राइम मिनिस्टर : नरेन्द्र मोदी एंड हिज इंडिया‘ है।

Top Stories