Friday , September 21 2018

मोदी से खु़फिया मुलाक़ात की शरद पवार की जानिब से तरदीद

कांग्रेस की हलीफ़ ने लोक सभा इंतेख़ाबात के लिए कांग्रेस के साथ इत्तिहाद के बारे में बर्अक्श‌ इशारे दिए जबकि सदर एन सी पी शरद पवार ने नरेंद्र मोदी से खु़फिया मुलाक़ात की इत्तेलाअत को बकवास क़रार दिया। जबकि पार्टी के एक और सीनियर क़ाइ

कांग्रेस की हलीफ़ ने लोक सभा इंतेख़ाबात के लिए कांग्रेस के साथ इत्तिहाद के बारे में बर्अक्श‌ इशारे दिए जबकि सदर एन सी पी शरद पवार ने नरेंद्र मोदी से खु़फिया मुलाक़ात की इत्तेलाअत को बकवास क़रार दिया। जबकि पार्टी के एक और सीनियर क़ाइद प्रफुल पटेल ने कहा कि तमाम मुतबादिल राहें खुली हैं। मर्कज़ी वज़ीर-ए-ज़राअत शरद पवार ने ट्विटर पर तहरीर किया कि नई दिल्ली में 17 जनवरी को नरेंद्र मोदी से उनकी मुलाक़ात की ख़बर अख़बारात में शाय हुई है, ये मुकम्मल तौर पर शर अंगेज़ है, बेबुनियाद और झूटी है।

पवार के ट्विटर के बाद मराठी रोज़नामा के सफ़ाह-ए-अव्वल पर ख़बर शाय हुई कि सदर एन सी पी समझा जाता है कि नई दिल्ली में मज़कूरा तारीख़ खु़फिया तौर पर नरेंद्र मोदी से मुलाक़ात करचुके हैं। दिल्ली में वज़ीरे आला की कान्फ्रेंस में रियासत का दौरा करने के मौक़े पर शरद पवार ने वज़ीरे आला से मुलाक़ात की थी और इसके सिवा उन्होंने गुज़िश्ता एक साल के दौरान नरेंद्र मोदी के साथ अपनी किसी मुलाक़ात की ख़बर को बेबुनियाद, शर अंगेज़ और बिलकुल झूटी क़रार दिया।

शरद पवार की पार्टी एन सी पी कांग्रेस ज़ेर-ए-क़ियादत यू पी ए में शामिल दूसरी सब से बड़ी पार्टी है। अख़बारी इत्तेला में दावा किया गया था कि ये मुलाक़ात 30 मिनट जारी रही और एन सी पी और बी जे पी के तमाम सीनियर क़ाइदीन तक इस मुलाक़ात से वाक़िफ़ नहीं थे। ताहम महाराष्ट्र में कांग्रेस-एन सी पी ताल्लुक़ात में कशीदगी की अक्कासी करते हुए और वाज़िह तौर पर सख़्त सौदेबाज़ी की तैयारी में मसरूफ़ एन सी पी के क़ाइद प्रफुल पटेल ने नशिस्तों की तक़सीम के बारे में बातचीत को कांग्रेस गै़रज़रूरी तौर पर बहुत ज़्यादा ताख़ीर का शिकार बना रही है और उनकी पार्टी के सब्र का पैमाना छलकने लगा है।

प्रफुल पटेल भी मर्कज़ी वज़ीर हैं। एक प्रेस कान्फ्रेंस के दौरान उन्होंने कहा कि ये कोई अच्छी अलामत नहीं है क्योंकि इंतेख़ाबात की क़ुरबत के पेशे नज़र तमाम सियासी पार्टीयों को तमाम मसाइल पर शफ़्फ़ाफ़ियत इख़तियार करने की ज़रूरत है। तमाम सियासी पार्टीयों के लिए तमाम मुतबादिल राहें खुली हुई हैं। उस वक़्त तक जब तक कि इनका मौक़िफ़ पूरी तरह शफ़्फ़ाफ़ हो। लेकिन एन सी पी का सब्र अब ख़त्म होरहा है क्योंकि कांग्रेस इत्तेहाद के मुज़ाकरात को ग़ैरमामूली ताख़ीर का शिकार बना रही है।

प्रफुल पटेल ने कहा कि उसकी वजह से उलझन पैदा होरही है। एन सी पी लोक सभा इंतेख़ाबात की तैयारीयों के लिए शिद्दत से मुशावरत में मसरूफ़ है और 22 नशिस्तों के उम्मीदवारों को क़तीअत दे चुके है। महाराष्ट्र से राज्य सभा के लिए शरद पवार और सीनियर कांग्रेस क़ाइद मुरली देवरा बिलामुक़ाबला मुंतख़ब होचुके हैं।

TOPPOPULARRECENT