Thursday , December 14 2017

मोदी से रूठे बाबा रामदेव

योग गुरू बाबा रामदेव नरेन्द्र मोदी के हलफ बरदारी तकरीब में नहीं पहुंचे। उनकी गैर मौजूदगी की असल वजह पता नहीं चल पाई है लेकिन मीडिया खबरों के मुताबिक बाबा रामदेव नरेन्द्र मोदी से रूठ गए हैं। बताया जा रहा है कि बाबा रामदेव अपनी पसंद

योग गुरू बाबा रामदेव नरेन्द्र मोदी के हलफ बरदारी तकरीब में नहीं पहुंचे। उनकी गैर मौजूदगी की असल वजह पता नहीं चल पाई है लेकिन मीडिया खबरों के मुताबिक बाबा रामदेव नरेन्द्र मोदी से रूठ गए हैं। बताया जा रहा है कि बाबा रामदेव अपनी पसंद के एमपी को वज़ीर बनवाना चाहते थे लेकिन उनकी नहीं सुनी गई। ऐसे में रूठे बाबा मोदी के हलफ बरदारी की तकरीब में शामिल नहीं हुए। इतना ही नहीं, उन्होंने खामोशी नज़र भी इख्तेयार (मौन व्रत) कर लिया है।

ज़राये का कहना है कि नए पीएम के इस रवैये से बाबा रामदेव को ज़हनी चोट लगी है। उन्होंने पीर् के रोज़ से मौन व्रत इख्तेयार कर लिया। हालांकि बाबा रामदेव के करीबी आचार्य बालकृष्ण नुमाइंदे के तौर पर मोदी की हलफ बरदारी की तकरीब में पहुंचे। आश्रम के ज़राये ने कहा, हां, बाबाजी हरिद्वार में ही हैं, मगर उन्होंने मौन व्रत इख्तेयार किया है।

बाबा रामदेव किस मुकाम पर हैं, इस बारे में जानकारी नहीं दे सकते। इससे पहले पतंजलि योगपीठ ने दावा किया था कि बाबा रामदेव के दो दर्जन पैरोकार मोदी की हलफ बरदारी की तकरीब में शामिल होंगे। लेकिन आखिरी मिनट में कुछ गलत हो गया। गौरतलब है कि बाबा रामदेव ने लोकसभा इंतेखाबात में भाजपा के लिए तश्हीर किया था और नरेंद्र मोदी को पीएम बनाए जाने के लिए जमकर वकालत की थी।

TOPPOPULARRECENT