Monday , December 18 2017

गवर्नर सफ़ेद हाथी, कबाड़ में पड़े लोगों को गवर्नर बना रही है मोदी : शिवसेना

मुंबई : शिवसेना ने एक बार फिर मोदी हुकूमत पर निशाना लगाया है। गवर्नरों की नियुक्ति पर सवाल खड़े करते हुये पार्टी ने ‘सामना’ में लिखा है की गवर्नर का ओहदा सियासी ख़यालों के कबाड़ख़ाने में पड़े लोगों की निज़ाम के लिए इस्तेमाल में लाया जाता है।

‘राजभवन का ब्रांड बदला’ हेडिंग के साथ जुमा को छपे एडिटोरियल में पार्टी ने लिखा है, गवर्नर नियुक्ति के बारे में जो कुछ काँग्रेस हुकूमत में हो रही थी, वही सब मोदी हुकूमत में भी हो रही है। सिर्फ ब्रांड बदल गया है। गवर्नर का मतलब अवाम के पैसे पर पाने वाला सफ़ेद हाथी है।

शिवसेना ने मुखपत्र के जरिये सवाल उठाते हुये लिखा है, सवाल यह है की गवर्नर का ओहदा चाहिए ही क्यों? यह सवाल वैसे ही पुराना है, फिर भी अपने-अपने सियासी ख्यालों के कबाड़ख़ाने में पड़े लोगों की वयवस्था करने के लिए ही गवर्नर ओहदे का इस्तेमाल किया जाता है। मुल्क भर के मौजूदा गवर्नरों की फेहरिस्त पर नज़र दौड़ाये तो यह बाद आसानी से जेहन में आ ज़ाती है। अब तक इन ओहदे पर तकररूरी किए गए सारे लोग बीजेपी के कर्कुनान और लीडर हैं।

TOPPOPULARRECENT