Monday , December 11 2017

मौन व्रत जारी रखने अन्ना हज़ारे का ऐलान

नई दिल्ली 28 अक्टूबर ( पी टी आई ) गानधयाई कारकुन अना हज़ारे ने आज ऐलान किया कि वो अपने ख़ामोश एहतिजाज ( मौन व्रत ) को जारी रखेंगे जबकि उन के साथीयों पर मुख़्तलिफ़ गोशों से तन्क़ीदों का सिलसिला शिद्दत इख़तियार किया जा रहा है ।

नई दिल्ली 28 अक्टूबर ( पी टी आई ) गानधयाई कारकुन अना हज़ारे ने आज ऐलान किया कि वो अपने ख़ामोश एहतिजाज ( मौन व्रत ) को जारी रखेंगे जबकि उन के साथीयों पर मुख़्तलिफ़ गोशों से तन्क़ीदों का सिलसिला शिद्दत इख़तियार किया जा रहा है ।

अन्ना हज़ारे ने कहा कि मुख़्तलिफ़ लोगों से बातचीत और तबादला-ए-ख़्याल की वजह से वो बहुत कमज़ोर होते जा रहे हैं। उन्होंने अपने मौन व्रत को बरक़रार रखने का फ़ैसला किया है जो 16 अक्टूबर से शुरू हुआ है ।

इस का मतलब ये है कि वो दार-उल-हकूमत दिल्ली में हफ़्ता को होने वाले कोर कमेटी के इजलास में शिरकत नहीं करेंगे । इमकान है कि इस इजलास में मुख़्तलिफ़ तनाज़आत पर ग़ौर किया जाएगा जिस से उन के साथी अरकान शिकार होते जा रहे हैं।

अन्ना हज़ारे ने अपने मौन व्रत को जारी रखने का ऐलान ऐसे वक़्त में किया है जबकि सीनीयर कांग्रेस लीडर डग वजए सिंह ने गानधयाई कारकुन के ख़िलाफ़ अपनी मुहिम में शिद्दत पैदा कर दी है । द्विगविजय सिंह का इल्ज़ाम है कि अन्ना हज़ारे बाबा रामदेव और अब श्री श्री रवी शंकर की जानिब से करप्शन के ख़िलाफ़ मुहिम दर असल बी जे पी और आर ऐस उसकी जानिब से हिन्दू दहश्तगर्दी से अवाम की तवज्जा हटाने की कोशिश का हिस्सा है ।

उन्होंने कहा कि बी जे पी के मंसूबों से सब को ख़बरदार रहने की ज़रूरत है । अना हज़ारे ने अपने ब्लॉग पर तहरीर किया है कि इन की सेहत इस बात की इजाज़त नहीं देती कि वो अपने मौन व्रत को ख़तम करें।

उन्होंने कहा कि इन के पैर और टख़ने में अभी भी सूजन है जिस से उन्हें काफ़ी तकलीफ़ होती है । उन्होंने इद्दिआ किया कि मून व्रत के नतीजा में उन्हें अपने आप को सेहतमंद बनाने में मदद मिलती है । अवाम के साथ तबादला-ए-ख़्याल के नतीजा में वो बहुत कमज़ोर होते जा रहे हैं। इसी लिए अपनी जिस्मानी सेहत को ज़हन में रखते हुए उन्हों ने मौन व्रत को जारी रखने का फ़ैसला किया है ।

टीम अना के साथीयों पर इन दिनों शदीद तन्क़ीदें हो रही हैं। टीम अना की साथी किरण बेदी पर इल्ज़ाम है कि उन्हों ने हिंदूस्तान के मुख़्तलिफ़ शहरों में मदऊ किए जाने पर फ़र्ज़ी बलज़ पेश करते हुए इज़ाफ़ी रक़ूमात हासिल की हैं। किरण बेदी ने इस से शख़्सी फ़ायदा उठाने की तरदीद की है ।

इसी तरह अरविंद केजरीवाल पर इल्ज़ाम है कि उन्हों ने अना हज़ारे के एहतिजाज केलिए वसूल शूदा अतयात को अपने ट्रस्ट में जमा करवा लिया है । इसी तरह एक और साथी प्रशांत भूषण ने अपने एक ब्यान से तनाज़ा पैदा करदिया था जिस में उन्हों ने जम्मू-ओ-कश्मीर में इस्तिसवाब आम्मा करवाए जाने की हिमायत की थी ।

अना हज़ारे और उन के साथीयों ने इस रिमार्क की शदीद मुख़ालिफ़त की थी । दिल्ली में हफ़्ता को होने वाले अना के साथीयों के इजलास में इमकान है कि अहम उमूर पर ग़ौर किया जाएगा । वाज़िह रहे कि टीम के दो अरकान पी वे राजगोपाल और राजिंदर सिंह अना का साथ छोड़ चुके हैं।

TOPPOPULARRECENT