Tuesday , December 12 2017

मौलाना अबदुल क़वी की रिहाई के लिए कोशिशें तेज़

एन चुनाव से पहले हैदराबाद के आलमे दीन मौलाना अब्दुल कवी की गिरफ़्तारी से हैरान-ओ-परेशान जमीअतुल उलमा -ए-हिंद ने क़ानूनी और सियासी सतह पर उनकी रिहाई की जद्द-ओ-जहद को बेहतर् बनाने के लिए नामवर वुकला की एक टीम तशकील दी है जो उनके दिफ़ा

एन चुनाव से पहले हैदराबाद के आलमे दीन मौलाना अब्दुल कवी की गिरफ़्तारी से हैरान-ओ-परेशान जमीअतुल उलमा -ए-हिंद ने क़ानूनी और सियासी सतह पर उनकी रिहाई की जद्द-ओ-जहद को बेहतर् बनाने के लिए नामवर वुकला की एक टीम तशकील दी है जो उनके दिफ़ा में 7 अप्रैल को अहमदाबाद के पोटा कोर्ट में मौजूद रहेंगे साथ ही वुकला के साथ कुआर्डीनेशन के लिएजमीअतुल उलमा -ए-हिंद के क़ौमी सेक्रेटरी मौलाना हकीम उद्दीन क़ासिमी जमीअतुल उलमा -ए-हैदराबाद के जनरल सेक्रेटरी हाफ़िज़ ख़लीक़ साबिर और जमीअतुल उलमा -ए-महाराष्ट्रा के सदर हाफ़िज़ नदीम सिद्दीक़ी भी इस मौके पर अहमदाबाद में मौजूद रहेंगे।

ये इत्तेला मौलाना हकीम उद्दीन क़ासिमी ने दी है। दूसरी तरफ़ जमीअतुल उलमा -ए-हिंद के जनरल सेक्रेटरी मौलाना महमूद मदनी की हिदायत पर तंज़ीम के एक वफ़द ने इसी मुआमले को लेकर गुजरात के गवर्नर से मुलाक़ात की और मैमोरंडम पेश किया जिस में मुतालिबा किया गया है कि वो उनकी फ़ौरी रिहाई का बंद-ओ-बस्त करें और अपनी ज़िम्मेदारी को अदा करते हुए गुजरात पुलिस से इस मुआमले में बाज़ पुर्सी करें।

जमीअतुल उलमा -ए-का एक वफ़द मौलाना रफ़ीक़ अहमद बड़ोदी सदर जमीअतुल उलमा -ए-गुजरात की सरबराही में गांधीनगर में वाक़्ये राज भवन पहुंचा और गवर्नर कमला देवी से एक घंटे की तफ़सीली मुलाक़ात के दरमयान मौलाना अब्दुल कवि की गुजरात पुलिस के ज़रीये अचानक गिरफ़्तारी की मज़म्मत करते हुए उनके सामने सारी तफ़सीलात पेश कीं। सरबराह वफ़द मौलाना रफ़ीक़ के मुताबिक़ गवर्नर ने यक़ीन दिलाया है कि वो इस मुआमले से मुताल्लिक़ महिकमा को ख़त लिख कर नाइंसाफ़ी और ज़्यादती से बाज़ रहने की हिदायत देंगी और साथ ही मौलाना की रिहाई के लिए हर मुम्किन क़दम उठाएंगी।

TOPPOPULARRECENT