Thursday , April 26 2018

म्यांमार के सैनिकों के डर से हजारों रोहिंग्या अपने अस्थायी शिविर छोड़ने को मजबूर!

टॉमब्रू, बंगलादेश: म्यांमार के सैनिकों द्वारा मौत की धमकी देने के बाद सैकड़ों रोहिंग्या ने अपने अस्थायी शिविर को छोड़ दिया और बांग्लादेश में चले गए, समुदाय के नेताओं ने बुधवार को कहा।

अगस्त के अंत में मुस्लिम अल्पसंख्यकों पर एक क्रूर सैन्य कार्रवाई के मद्देनजर म्यांमार से भागने के बाद लगभग 6,000 रोहिंग्या दोनों देशों के बीच एक पतली खंड पर रह रहे हैं।

वह म्यांमार से पलायन करने वालों में से सबसे पहले थे, जब पिछले साल हिंसा शुरू हुई थी और बांग्लादेश में किसी भी देश के अस्थायी आश्रयों की स्थापना नहीं हुई थी, वहीँ बांग्लादेश ने देश में रोहिंग्या के आने की सहमति दे दी थी।

हाल के हफ्तों में वे उन सैनिकों के दबाव में आ गए हैं जिन्होंने किनारेदार तार की बाड़ के साथ गश्त लगाया है, जो सिर्फ गज की दूरी पर (मीटर) शिविर से दूर है और रोहिंग्या को देश छोड़ने के लिए जोरदार भौंपू का इस्तेमाल करते हुए संदेश प्रसारित करते हैं।

समुदाय के नेता दिल मोहम्मद ने कहा कि संदेश से शिविर के अन्दर आतंक फैल गया है।

मोहम्मद ने कहा, “हम अब शांतिपूर्वक नहीं सो सकते हैं। शिविरों में अधिकांश रोहिंग्या अब बांग्लादेश में पलायन और शरण लेना चाहते हैं।”

उन्होंने कहा, “करीब 150 परिवार पहले ही बांग्लादेश के लिए शिविर छोड़ चुके हैं क्योंकि उन्हें डर था कि उन्हें ज़बरदस्ती राखीन वापस भेजा जा सकता है।”

TOPPOPULARRECENT