Saturday , December 16 2017

मक़रूज़ ख़ानदान की इजतिमाई ख़ुदकुशी की कोशिश

कामा रेड्डी, २४ दिसम्बर: (सियासत डिस्ट्रिक्ट न्यूज़ ) माँ (02) बच्चे फ़ौत हो गए जबकि माँ और बाप की हालत तशवीशनाक है ये वाक़िया आज कामा रेड्डी के गोपालस्वामी गढ़ी रोड में पेश आया । तफ़सीलात के बमूजब गोपालस्वामी रोड पर मुक़ीम ऐम राजू दोस्तों क

कामा रेड्डी, २४ दिसम्बर: (सियासत डिस्ट्रिक्ट न्यूज़ ) माँ (02) बच्चे फ़ौत हो गए जबकि माँ और बाप की हालत तशवीशनाक है ये वाक़िया आज कामा रेड्डी के गोपालस्वामी गढ़ी रोड में पेश आया । तफ़सीलात के बमूजब गोपालस्वामी रोड पर मुक़ीम ऐम राजू दोस्तों के साथ ग़लत आदतें और क़िमारबाज़ी की वजह से दो लाख रुपय का क़र्ज़ हो गया था जिस की वजह से क़र्ज़दार हर रोज़ क़र्ज़ की अदायगी केलिए हिरासाँ कररहे थे और घर के सामने गाली गलौज कर रहे थे।क़र्ज़ दारों की हरासा से तंग आकर अतनहाई इक़दाम उठाते हुए ख़ुदकुशी करने का फ़ैसला कर लिया और इजतिमाई तौर पर ख़ुदकुशी करने का इरादा करते हुए कीड़े मार दवा लेकर राजू अपनी दोनों बीवीयां संगीता, सजना,दुख़तर एन शरीशा, नुरेशा और फ़र्ज़ंद साई को पिला दी और ख़ुद भी पी लिया ।

तक़रीबन एक बजे अपने मकान में कीड़े मार दवा पीने के बाद घर का दरवाज़ा बंद करदिया दो बजे के दौरान घर वालों को उल्टी (vomiting) होना शुरू हुई तो पड़ोसी आवाज़ सुन कर दरवाज़ा पर दस्तक दी तो राजू खोलना मुनासिब नहीं समझा लेकिन इस का सात साला लड़का साई घर का दरवाज़ा खोला तो सारे अफ़राद ख़ानदान इंतिहाई तशवीशनाक हालत में थे जिस पर पड़ोसीयों ने 108 ambulance और पुलिस फ़ौरी इत्तिला दी।08 एम्बुलेन्स् मुतास्सिरा अफ़राद को सरकारी दवाख़ाना मुंतक़िल किया लेकिन इस की दोनों दुख़तर इन शरीशा , नुरेशा फ़ौत होचुकी थी । जबकि राजू और इस की दोनों बीवीयां संगीता, सजना और साई चारों की हालत तशवीशनाक थी डाक्टरों ने तिब्बी ईलाज के बाद हैदराबाद मुंतक़िल किया। इस बात की इत्तिला कामा रेड्डी में आग की तरह फैल गई और सैंकड़ों अफ़राद दवाख़ाना पहुंच कर तफ़सीलात हासिल कर रहे थे और राजू को बुरा भला कहते हुए देखा गया ।कामा रेड्डी में मौजूद मुहम्मद अली शब्बीर को इत्तिला मिलने पर मिस्टर शब्बीर अली ने दवाख़ाना पहुंच कर डाक्टरों से बातचीत की और एम्बूलेन्स का इंतिज़ाम करते हुए गांधी मैडीकल के डाक्टरों को फ़ोन पर इत्तिला दी।राजू ने ख़ुदकुशी करने से क़बल एक तहरीर लिखी जिस में लिखा हुआ था कि कर्ज़ों के बोझ से इजतिमाई तौर पर ख़ुदकुशी कररहा हूँ।मेरी और अरकान ख़ानदान की आख़िरी रसूमात साबिक़ सदर नशीन बलदिया के श्री निवास अंजाम दे। साबिक़ वज़ीर मुहम्मद अली शब्बीर का भी ज़िक्र करते हुए कहा कि मुहम्मद अली शब्बीर एक काबिल लीडर और उन की मज़ीद तरक़्क़ी नागुज़ीर है।

एस एच ओ कामा रेड्डी मिस्टर प्रकाश यादव इस केस को दर्ज करके तहक़ीक़ात का आग़ाज़ करदिया है ।मुक़ाम हादिसा का कामा रेड्डी डी एस पी रेड्डी गंगाधर राव् , कांग्रेस क़ाइदीन और पुलिस ओहदेदार के इलावा दीगर ने मुआइना किया ।

TOPPOPULARRECENT