Saturday , December 16 2017

मज़हब एक शख़्सी मुआमला है : ऋषि कपूर

मुंबई, १७ अक्टूबर ( एजेसीज़) करीना कपूर के चाचा और अपने वक़्त के रोमांटिक हिट हीरो ऋषि कपूर ने करीना और सैफ को शादी की मुबारकबाद के साथ उन की तवील अज़दवाजी ज़िंदगी(ज़िंदगी भर साथ रहने)की दुआ की।

मुंबई, १७ अक्टूबर ( एजेसीज़) करीना कपूर के चाचा और अपने वक़्त के रोमांटिक हिट हीरो ऋषि कपूर ने करीना और सैफ को शादी की मुबारकबाद के साथ उन की तवील अज़दवाजी ज़िंदगी(ज़िंदगी भर साथ रहने)की दुआ की।

ऋषि कपूर ने कहा कि करीना की शादी एक दिन तो होनी ही थी और सैफ से अच्छा लड़का उन्हें नहीं मिल सकता था । कपूर और ख़ान फेमिली का ये मिलाप शायक़ीन बरसों तक याद रखेंगे । जब उन से पूछा गया कि ख़ुद उन की बेटी रिधीमा कैसी है तो ऋषि कपूर ने कहा कि रिधीमा अपने शौहर के साथ बेहद ख़ुश है और करीना की शादी में शिरकत भी करेगी ।

संगीत में नीतू सिंह कपूर ने शिरकत की थी । डुबो ( रणधीर कपूर) भैया और चंपू (राजीव कपूर) भी शादी के इंतिज़ामात में पेश पेश हैं । करीना कपूर के मुसलमान ना बनने पर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए ऋषि कपूर ने कहा कि मज़हब किसी भी फ़र्द का बिलकुल शख़्सी ( निजी) मुआमला है ।

दो समझदार और बालिग़ अफ़राद अपने अपने मज़हब पर क़ायम रहते हुए भी ख़ुशहाल अज़दवाजी ज़िंदगी गुज़ार सकते हैं । उन्होंने कहा कि इन की बीवी ( नीतू) सिख हैं लेकिन मेरे हिन्दू होने की वजह से हमारी शादी में कभी दरार नहीं पड़ी।

बहरहाल मज़हब चाहे जो भी हो आदमी को एक अच्छा इंसान बनने का मौक़ा मिल जाय तो समझ लीजिए कि ज़िंदगी कामयाब हो गई और मैं यही दुआ सैफ के लिए भी करूंगा कि अगर वो अच्छे मियां बीवी साबित हुए तो उन की ज़िंदगी दूसरों के लिए मिसाल बन जाएगी ।

TOPPOPULARRECENT