यक्म जनवरी से जेल भरो मुहिम, हज़ारे की धमकी

यक्म जनवरी से जेल भरो मुहिम, हज़ारे की धमकी
नई दिल्ली, १६ दिसम्बर: ( पी टी आई) मज़बूत लोक पाल बिल लाने केलिए अपने दबाव् में इज़ाफ़ा करते हुए अन्ना हज़ारे ने ऐलान किया कि अगर पार्लीमैंट में मज़बूत लोक पाल क़ानून मंज़ूर नहीं किया गया तो यक्म जनवरी से जेल भरो मुहिम शुरू की जाएगी।

नई दिल्ली, १६ दिसम्बर: ( पी टी आई) मज़बूत लोक पाल बिल लाने केलिए अपने दबाव् में इज़ाफ़ा करते हुए अन्ना हज़ारे ने ऐलान किया कि अगर पार्लीमैंट में मज़बूत लोक पाल क़ानून मंज़ूर नहीं किया गया तो यक्म जनवरी से जेल भरो मुहिम शुरू की जाएगी।

उन्हों ने ये भी इशारा दिया कि जारीया सरमाई सैशन के मुक़र्ररा अय्याम से क़बल बल की मंज़ूरी ग़ैर मुतवक़्क़े है। अन्ना हज़ारे ने कहाकि जेल भरो एहतिजाज 27 दिसम्बर से शुरू होने वाले उन के ग़ैर मुअय्यना भूक हड़ताल के इलावा होगा, अगर पार्लीमैंट की जानिब से एक मज़बूत लोक पाल बिल मंज़ूर नहीं किया गया तो उन की हड़ताल में शिद्दत पैदा की जाएगी। वक़्त पर मुसव्वदा तैयार करने के लिए डिपार्टमैंट आफ़ पर्सनल ने काम करना शुरू किया है।

पारलीमानी स्टैंडिंग कमेटी के ख़्यालात और मुख़्तलिफ़ सयासी पार्टीयों की जानिब से कल वज़ीर-ए-आज़म की जानिब से मुनाक़िद करदा इजलास में ज़ाहिर करदा राय के तनाज़ुर में ये मुसव्वदा तैयार किया जा रहा है। लोक पाल बिल 22 दिसम्बर से क़बल पार्लीमैंट में पेश किया जाना होगा जब दोनों ऐवान ग़ैर मुअय्यना मुद्दत केलिए मुल्तवी होजाएंगे ताहम हुकूमत के पास जनवरी तक सैशन की कार्रवाई को वुसअत देने का इख़तियार है।

क्रिसमस और नए साल की तातीलात के बाद सैशन तलब किया जा सकता है।लोक पाल क़ानून पर ग़ौर करने केलिए जनवरी के पहले हफ़्ता में पार्लीमैंट के दोनों ऐवानों की कार्रवाई को दुबारा तलब किया जा सकता है।आइन्दा हफ़्ता के अवाइल में मर्कज़ी काबीना की जानिब से मुसव्वदा क़ानून पर ग़ौर करने की तवक़्क़ो है। वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह मास्को के दौरा से हफ़्ता को वापिस आयेंगे ।

इतवार या पीर को काबीना का इजलास मुनाक़िद होगा इस के बाद 20 या 21 दिसम्बर को लोक पाल मुसव्वदा क़ानून को पार्लीमैंट में पेश किया जा सकता है।अन्ना हज़ारे ने कहा कि अगर कुल जमाती इजलास में लोक पाल बल पर इत्तिफ़ाक़ राय नहीं होसका तो पार्लीमैंट में इत्तिफ़ाक़ राय होगा। हुकूमत के हर एक फ़र्द ने एक मज़बूत लोक पाल बिल लाने का तीक़न दिया है।मुल्क़ केलिए ये ज़रूरी है कि सैशन की मुद्दत में तौसीअ की जाये।

Top Stories