Monday , July 23 2018

यत्तिनहोले परियोजना के विरोध में सांसद का आमरण अनशन 10 फ़रवरी से

मेंगलूरु। नेत्रावती संरक्षणा समिति के नेतृत्व में आगामी 10 फ़रवरी से यत्तिनहोले परियोजना के विरोध में आमरण अनशन शुरू किया जायेगा। यह अनशन यत्तिनहोले परियोजना को बंद करने और नेत्रावती नदी के संरक्षण के लिए किया जा रहा है। यह निर्णय शहर के बन्ट्स एसोसिएशन के सभागार में समिति की हुई बैठक में लिया गया। बैठक में यत्तिनहोले परियोजना के विरोध करते हुए इसके विरोध में आमरण अनशन का फैसला लिया गया।
आमरण अनशन पर सांसद नलिनकुमार काटील के अलावा मोनाप्पा भंडारी, हरिकृष्ण बंटवाल समेत अन्य लोग भी बैठेंगे। 10 फ़रवरी को दक्षिण कन्नड़ जिले के करीब 20 हज़ार लोग अपने समर्थकों के साथ अनशन को समर्थन देने के लिए आएंगे। इनमें कला, संस्कृति, विधि, सिनेमा, राजनीति, खेल एवं अन्य छेत्रों से जुड़े हुए लोग शामिल होंगे जो नेत्रावती नदी के संरक्षण के लिए प्रदर्शन करेंगे। नेत्रावती संरक्षणा समिति ने जिले के लोगों से प्रदर्शन को सफल बनाने के लिए आग्रह किया है।

TOPPOPULARRECENT