Saturday , June 23 2018

यमन अमन मुज़ाकरात बंद गली में

अक़वामे मुत्तहिदा की सालिसी में शोर्श ज़दा मुल्क यमन में जंग बंदी के मुज़ाकरात तातुल शिकार हो चुके हैं। अब इस मुल्क के मुख़्तलिफ़ हिस्सों में मुक़ामी सतह पर मुम्किना जंग बंदी करने के पहलूओ पर ग़ौर किया जा रहा है।

अक़वामे मुत्तहिदा की सालिसी में शोर्श ज़दा मुल्क यमन में जंग बंदी के मुज़ाकरात तातुल शिकार हो चुके हैं। अब इस मुल्क के मुख़्तलिफ़ हिस्सों में मुक़ामी सतह पर मुम्किना जंग बंदी करने के पहलूओ पर ग़ौर किया जा रहा है।

यमन के मुतहारिब फ़रीक़ों के दरमयान अक़वामे मुत्तहिदा की निगरानी जिनेवा में अमन मुज़ाकरात का सिलसिला उस वक़्त इख़्तिलाफ़ात का शिकार हो कर रह गया है और बात आगे नहीं बढ़ रही। ज़राए के मुताबिक़ फ़रीक़ैन अपने अपने मोक़िफ़ पर डटे हुए हैं।

इस तातुली के दौरान अक़वामे मुत्तहिदा और जंग में शरीक ग्रुप्स यमन के मुख़्तलिफ़ इलाक़ों में जंग बंदी के इमकानात पर भी ग़ौर कर रहे हैं। ज़राए का कहना है कि जंग बंदी के दोनों पहलूओ इंतिहाई मुश्किलात के हामिल हैं क्योंकि दोनों हैरानकुन अंदाज़ में अपने अपने निकात को अटल और दरुस्त क़रार दे रहे हैं।

TOPPOPULARRECENT