Sunday , December 17 2017

यमन का जंग की लपेट में आने का ख़तरा

मुसल्लह शीया ग्रुप और मुक़ामी शिद्दत पसंद सुन्नीयों के दरमयान मुज़ाकरात के बावजूद यमन में तशद्दुद की आग फिर भड़क उठी है। लड़ाई में यमन की सरकारी टी वी की इमारत को भी निशाना बनाया गया। मुक़ामी आबादी इस ख़ौफ़ से भी परेशान है कि तशद्दुद की य

मुसल्लह शीया ग्रुप और मुक़ामी शिद्दत पसंद सुन्नीयों के दरमयान मुज़ाकरात के बावजूद यमन में तशद्दुद की आग फिर भड़क उठी है। लड़ाई में यमन की सरकारी टी वी की इमारत को भी निशाना बनाया गया। मुक़ामी आबादी इस ख़ौफ़ से भी परेशान है कि तशद्दुद की ये लहर बतदरीज बढ़ती जाएगी।

दार-उल-हकूमत सनआ में लड़ाका जहाज़ों की नीची परवाज़ों से मुक़ामी आबादी में बेचैनी बढ़ रही है। मुसल्लह शीया ग्रुप होसी और सुन्नी क़बाइल और शिद्दत पसंद मलेशिया के दरमयान गली कूचों में जारी लड़ाई फैलने के ख़ौफ़ से लोग या तो घरों में दुबक कर रह गए हैं और या दार-उल-हकूमत छोड़ कर जा रहे हैं।

ये लोग हुकूमत से मुस्तफ़ी होने का मुतालिबा कररहे हैं। मुज़ाहिरे 9 सितंबर तक तो पुरअमन थे, लेकिन उसी दिन फ़ौज ने होसी मुज़ाहिरीन पर फायरिंग करके 7 मुज़ाहिरीन को हलाक कर दिया।

18 सितंबर को हालात फिर बिगड़ गए, जब होसी मुज़ाहिरीन सरकारी टी वी की इमारत के क़रीब वाले इलाक़ा पर कंट्रोल करना चाहते थे।

ख़ौफ़ में मुबतला यमन के अवाम इस वक़्त सहमे हुए हैं, क्योंकि उन्हें अंदाज़ा है कि असलहा से लैस यमनी अवाम में अगर इराक़ और शाम की तरह फ़िर्कावारीयत पर मबनी जंग छिड़ जाये तो इस से तबाही आ सकती है।

TOPPOPULARRECENT