Thursday , December 14 2017

यमन के मुतहारिब ग्रुप्स उबूरी कौंसिल पर मुत्तफ़िक़

यमन के लिए अक़वामे मुत्तहिदा के ख़ुसूसी एल ची जमाल बिन उमर ने जुमा को एलान किया है कि ख़ानाजंगी का शिकार इस मुल्क के मुतहारिब धड़ों ने एक अवामी उबूरी कौंसिल के क़ियाम से इत्तिफ़ाक़ किया है जो मुल्क का नज़्मो नस्क़ चलाएगी और उस को मौजूदा ब

यमन के लिए अक़वामे मुत्तहिदा के ख़ुसूसी एल ची जमाल बिन उमर ने जुमा को एलान किया है कि ख़ानाजंगी का शिकार इस मुल्क के मुतहारिब धड़ों ने एक अवामी उबूरी कौंसिल के क़ियाम से इत्तिफ़ाक़ किया है जो मुल्क का नज़्मो नस्क़ चलाएगी और उस को मौजूदा बोहरान से निकालेगी।

जमाल बिन उमर यमन के दारुल हुकूमत सनआ में हूसी शीया बाग़ीयों के गुज़िश्ता माह हुकूमत पर क़ब्ज़े के बाद से बोहरान के हल के लिए मुतहारिब फ़रीक़ों के साथ मुज़ाकरात कर रहे हैं।

हूसी बाग़ी हुकूमत और पार्लीमान को चलता करने के बाद अब उमूरे ममलकत ख़ुद चला रहे हैं। यमनी सदर मंसूर हादी और वज़ीरे आज़म ख़ालिद बहा 22 जनवरी को हूसी शीया बाग़ीयों की सदारती महल पर चढ़ाई और दूसरी सरकारी इमारतों पर क़ब्ज़े के बाद अपने ओहदों से मुस्ताफ़ी हो गए थे।

TOPPOPULARRECENT