यमन ज़ंग: क्या सऊदी अरब ने हमला रखा है जारी?

यमन ज़ंग: क्या सऊदी अरब ने हमला रखा है जारी?

मंगलवार को यमन के रक्षा मंत्रालय ने एक बयान जारी करके युद्ध विराम के उल्लंघन के लिए सऊदी सैन्य गठबंधन की निंदा की है। यमनी रक्षा मंत्रालय का कहना है कि संयुक्त राष्ट्र संघ के प्रतिनिधि मार्टिन ग्रीफ़िट्स की सना और अल-हुदैदा यात्रा के बाद, अतिक्रमणकारियों के हमलों में वृद्धि हुई है, जिससे यह साबित होता है कि सऊदी सैन्य गठबंधन शांति वार्ता के लिए गंभीर नहीं है।

इस बीच, अमरीका में सऊदी अरब के राजदूत ख़ालिद बिन सलमान ने अपने ट्वीट में दावा किया है कि यमन में युद्ध का जारी रहना, इस देश में शांति की स्थापना और मौजूदा संकट के राजनीतिक समाधान के लिए बेहतरीन विकल्प है।

हालांकि अतिक्रमणकारी सऊदी सैन्य गठबंधन ने पिछले हफ़्ते यह दावा किया था कि दिसम्बर के आरम्भ में स्टॉकहोम में शांति वार्ता से पहले यमन में हमले बंद कर दिए जायेंगे। हालांकि यह दावा ख़ाली एक धोखा साबित हुआ और इस अतिक्रमणकारी गठबंधन ने अल-हुदैदा पर अपने हमलों में पहले से भी अधिक वृद्धि कर दी।

इन परिस्थितियों में अमरीकी रक्षा मंत्री ने दावा किया है कि यमन के पोर्ट सिटी अल-हुदैदा पर सऊदी सैन्य गठबंधन के हमले बंद हो गए हैं, इस इलाक़े में केवल छुट पुट झड़पें हो रही हैं जो ध्यान योग्य नहीं हैं। इस दावे के विपरीत सऊदी सैन्य गठबंधन अपने यमनी एजेंटों के ज़रिए यमन की पीड़ित जनता पर अत्याचारों के पहाड़ ढहा रहा है।

साभार- ‘parstoday.com’

Top Stories