Thursday , April 26 2018

यमन में गैस संकट : गैस संकट को दबाने के लिए हौथी विद्रोही मार रहे हैं नागरिकों को

Yemenis wait next to empty gas cylinders for gas supplies amid increasing shortages in the Yemeni capital Sanaa, on March 5, 2018. / AFP PHOTO / Mohammed HUWAIS

यमन : शनिवार की रात में हौथी मिलिशिया ने इब्बे के येमेनी प्रांत में तीन लोगों को मार दिया और कई अन्य घायल हो गए। गैस स्टेशन पर एक झगड़ा होने के बाद यह घटना हुई, जो तीन सप्ताह तक गैस संकट का परिणाम था।

घायल नागरिकों को एक स्थानीय अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया था, लेकिन उन्हें हौथी लड़ाकों ने अपहरण कर मार डाला। पर्यवेक्षकों का कहना है कि इससे पूर्व सैनिकों ने गैस संकट को छिपाने के लिए सना में गैस स्टेशनों पर लंबी कतार में खड़े दर्जनों लोगों को गिरफ्तार किया था।

नागरिक दावा करते हैं कि सेना के मकसदों की आपूर्ति में मोनोलाइजेशन कि वजह से गैस की कीमतों में इजाफा हुआ है। एक गैस सिलेंडर के लिए 9,000 से अधिक यमनी रियालों तक पहुंच गया है जबकि हौथी के कब्जे वाले इलाकों में केवल 1,100 रियाल में ही गैस सिलिन्डर उपलब्ध है। यमेनी राजधानी में एक निगरानी इकाई के आंकड़े बताते हैं कि 993 गैस स्टेशनों को हौथी नियंत्रण में रखा गया है।

नतीजतन, कई लोग इसके खिलाफ सड़कों में उतरकर जलती हुई टायरों से सड़क हो अवरुद्ध कर दिये हैं। वे देश में रसोई गैस की दुर्लभ आपूर्ति के लिए ईरान के समर्थित हौथी मिलिशिया की निंदा कर रहे हैं। अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों की एक टीम वर्तमान में यमन में मानवाधिकार उल्लंघन की जांच कर रही है।

TOPPOPULARRECENT