यमन में जंग बंदी किसी भी वक़्त ख़त्म हो सकती है

यमन में जंग बंदी किसी भी वक़्त ख़त्म हो सकती है

यमन में अस्करी कार्यवाहीयां करने वाले सऊदी अरब की जे़रे क़ियादत इत्तिहाद ने मुतनब्बे किया है कि यमन में हूसी बाग़ीयों से जंग बंदी का मुआहिदा किसी भी वक़्त ख़त्म हो सकता है।

इत्तिहाद का कहना है कि जंग बंदी के बाद से मुआहिदे की 150 मर्तबा ख़िलाफ़वर्ज़ी की जा चुकी है और अक़्वामे मुत्तहदा को चाहिए कि वो बाग़ीयों को बता दे कि बर्दाश्त की एक हद होती है। अक़्वामे मुत्तहदा की निगरानी में यमनी हुकूमत और शीया हूसी बाग़ीयों के दरमयान सात रोज़ा जंग बंदी का आग़ाज़ मंगल की दोपहर से हुआ था।

सऊदी इत्तिहाद का ये बयान एक ऐसे वक़्त आया है जब बुध को फ़रीक़ैन ने सैंकड़ों क़ैदीयों का तबादला किया है जो मुल्क में क़ायम अमन के लिए मुज़ाकरात के आग़ाज़ के बाद पहला अहम क़दम है।

Top Stories