Wednesday , December 13 2017

यमन में ड्रोन हमले 16 हलाक

यमन के शोरिश ज़दा जुनूबी और मशरिक़ी इलाक़ों पर कंट्रोल के लिए फ़ौज और अस्करीयत पसंदों के दरमियान जारी लड़ाई में कम अज़ कम 6 अलक़ायदा अरकान हलाक हो गए। वज़ारत-ए-दिफ़ा ने इत्तेला दी कहा कि फ़ौज ने एतवार को देर गए लोधर शहर के नज़दीक अलक़ायदा के ठ

यमन के शोरिश ज़दा जुनूबी और मशरिक़ी इलाक़ों पर कंट्रोल के लिए फ़ौज और अस्करीयत पसंदों के दरमियान जारी लड़ाई में कम अज़ कम 6 अलक़ायदा अरकान हलाक हो गए। वज़ारत-ए-दिफ़ा ने इत्तेला दी कहा कि फ़ौज ने एतवार को देर गए लोधर शहर के नज़दीक अलक़ायदा के ठिकानों पर तोपखाने से गोला बारी की जिस से 13अस्करीयत पसंद हलाक हो गए।

नामालूम ओहदेदारोंने कहा कि गोला बारी से इस्लामी अस्करीयत पसंद इस दिफ़ाई अहमियत के शहर के अतराफ़ ज़ेर क़ब्ज़ा नए ठिकानों से पसपा हो गए हैं और फ़ौज के वफ़ादार मुसल्लह शहरी जिन्हें अवामी मुज़ाहमती कमेटी कहा जाता है, हमलों में मदद की। इन हलाकतों से एक रोज़ क़ब्ल लोधर में फ़िज़ाई हमलों में 7 अलक़ायदा मुश्तबा अस्करीयत पसंद मारे गए थे।

वज़ारत-ए-दिफ़ा के ब्यान में कहा गया कि मुल्क के मशरिक़ी सूबे मारब के एक दौर दराज़ सहराई इलाक़े में कम अज़ कम तीन दीगर अस्करीयत पसंद एतवार को उस वक़्त हलाक कर दिए गए जबकि उन की गाड़ियों पर फ़िज़ाई हमला किया गया। ये वाज़िह नहीं हो सका कि ताज़ा तरीन हमले यमनी फ़िज़ाईया ने किए हैं यह अमेरीकी ड्रोन तैय्यारों की कार्रवाई है।

चहारशंबा को वाशिंगटन पोस्ट ने इत्तेला दी थी कि गुज़श्ता चार महीनों में यमन ने अमेरीकी ड्रोन तैय्यारों से आठ ड्रोन हमले किए हैं।यमन की फ़ौज अपनी सरहद के अंदर अमेरीकी ड्रोन हमलों की तरदीद करती है और यमन ने भी अलक़ायदा के ख़िलाफ़ ड्रोन के इस्तेमाल का बा क़ायदा एतराफ़ नहीं किया।

यमन के साबिक़ सदर अली अबदुल्लाह सालेह की जानिब से इक़्तेदार उबूरी हुकूमत के हवाला कर देने के बाद से यमन में मुसलसल इसराईल की सरकारी फ़ौज और क़बाइली सरदारों की फ़ौज में तसादुम जारी है।

TOPPOPULARRECENT