यरुशलम पर फैसले का विरोध करने वाले देशों का बंद होगा आर्थिक सहायता- अमेरिका

यरुशलम पर फैसले का विरोध करने वाले देशों का बंद होगा आर्थिक सहायता- अमेरिका

वाशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने संयुक्त राष्ट्र संघ के अमेरिका को इजरायल की राजधानी येरुशलम मानने के फैसले को बदलने के प्रस्ताव पर समर्थन करने वाले देशों की आर्थिक सहायता बंद करने की धमकी दी है।

व्हाइट हाउस में ट्रंप ने कहा,‘हमसे अरबों डॉलर की आर्थिक सहायता लेने वाले देश हमारे खिलाफ वोट दे रहे हैं। हम उन देशों को दी जाने वाली आर्थिक सहायता बंद कर देंगे।

मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता।’ संयुक्त राष्ट्र महासभा के 193 सदस्य देश अरब और मुस्लिम देशों के आग्रह पर 15 सदस्यीय सुरक्षा परिषद में अमेरिका द्वारा सोमवार को अस्वीकृत किए गए एक प्रस्ताव के समर्थन में वोट करने के लिए गुरुवार को एक आपातकालीन विशेष सत्र में भाग लेंगे।

सुरक्षा परिषद के अन्य 14 सदस्य इजिप्ट के प्रस्ताव पर हस्ताक्षर करेंगे जिसमें स्पष्ट रूप से अमेरिका या ट्रंप का नाम नहीं है लेकिन येरुशलम मुद्दे पर अाए हालिया फैसलों पर चिंता जाहिर की गई है।

संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निक्की हेली ने मंगलवार को कई देशों को पत्र लिखकर चेतावनी दी थी कि ट्रंप ने अमेरिका के खिलाफ वोट देने वाले देशों की सूची मांगी है।

राष्ट्रपति ट्रंप ने उनके इस कदम की सराहना की है। संयुक्त राष्ट्र के कई वरिष्ठ नेताओं ने सुश्री हेली की चेतावनी के कारण ज्यादा वोट प्रभावित होने की संभावना को नकार दिया।

महासभा के अध्यक्ष मिरोस्लाव लैजकक ने ट्रंप मुद्दे पर बयान देने से मना करते हुए कहा कि अपने विचार प्रकट करना प्रत्येक सदस्य देश का अधिकार और जिम्मेदारी है।

Top Stories