Wednesday , April 25 2018

यरुशलम में किसी भी सम्पति की बिक्री पर लगा रोक, इस्लाम की विरासत बताया

जेरुसलम और फिलिस्तीन के ग्रैंड मुफ़्ती शेख मोहम्मद हुसैन ने एक निर्णय जारी किया है की जिसमे जेरूसलम में किसी भी प्रकार की संपत्ति की बिक्री पर रोक लगा दी गयी है।

उन्होंने कहा की “जेरूसलम और अल-अक्सा मस्जिद इस्लाम की देंन हैं, जिन्हें बेचा नहीं जा सकता, यह हमें विरासत में मिला है और किसी को भी यह छोड़ने का अधिकार नहीं है।

जेरूसलम और अल -अक्सा मस्जिद के कुछ भागों को अलग करना दुश्मनों के लिए मक्का और मदीना को त्याग करने जैसा है

मेम्बर ऑफ़ कमिटी फॉर द डिफेंस ऑफ़ लैंड एंड रियल एस्टेट , सिल्वान फाखरी अबू दिअद ने कहा की “इजराइल ने गैर-क़ानूनी तरीकों और धोखा बाजी करके क्षेत्र में जमीन के एक बड़े हिस्से में अपना कब्जा कर लिया है और जिसमे कुछ हिस्सा जमीन का बेच भी दिया है।”

अबू दिएद के अनुसार इजरायल की सरकार ने सिलवान के लगभग 13 प्रतिशत भाग पर कब्ज़ा कर लिया है, जिसमें 5,640 डूनम्स (5.6 वर्ग किलोमीटर) का क्षेत्र है, जो ज्यादातर अनुपस्थित संपत्ति कानून या विनियोग का उपयोग करते हैं।

अनुसार लगभग 50 यहूदी चौकियां सिल्वान के शहर में बनाई गई हैं, उनमें से ज्यादातर अल-अकसा मस्जिद के निकट वाडी हिलहेर इलाके में हैं।

TOPPOPULARRECENT