Tuesday , November 21 2017
Home / Neighbours / पाकिस्तान के इन इलाकों में है आतंकी संगठनों का हेडक्वार्टर, सर्जिकल स्ट्राइक की जरूरत!

पाकिस्तान के इन इलाकों में है आतंकी संगठनों का हेडक्वार्टर, सर्जिकल स्ट्राइक की जरूरत!

Baramulla: Soldiers take position during an encounter with heavily-armed militants who mounted an audacious attack on Indian Army's Field Ordinance Camp at Mohra near the border town of Uri in Baramulla district of Jammu and Kashmir on Dec 5, 2014. (Photo: IANS)

नई दिल्ली : अगला निशाना आतंक के वो हेडक्वार्टर बनेंगे जहां से भारत के खिलाफ आतंकी साजिशें रचीं जाती हैं। भारतीय जांबाजों के निशानों में सबसे ऊपर है वो ठिकाना जहां से रची गई थी मुंबई पर 26/11 हमले की साज़िश। वो ठिकाना जहां रहता है भारत का दुश्मन नंबर-1, लश्कर-ए-तैयबा का सरगना हाफिज सईद। जगह-मुरीदके, पता- लाहौर से 34 कि.मी दूर, पहचान- लश्कर-ए-तैयबा का हेडक्वार्टर। भारत पर होने वाले तमाम हमलों की साजिशें यहीं से रची जातीं हैं, कहने को तो ये गैर सरकारी संगठन जमात-उद-दावा का मुख्यालय है, लेकिन हकीकत में यहीं से चलता है लश्कर-ए-तैयबा। हालांकि अब दोनों को ही अमेरिका आतंकी संगठन घोषित कर चुका है। यहीं से चलता है लश्कर, इसका सबसे ताजा सबूत दिया है भारतीय एजेंसियों की गिरफ्त में आए हाफिज सईद के गार्ड अब्दुल क़यूम ने। क़यूम ने कबूला है कि उसे भी आतंक की ट्रेनिंग मुरीदके में ही मिली थी।

मुंबई हमले की साजिश रचे जाने के सबूत भारत ने पाकिस्तान को भी मुहैया कराए हैं। पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री खुर्शीद महमूद कसूरी ने पिछले साल प्रकाशित हुई अपनी किताब में दावा किया था कि 2008 के मुंबई हमले के बाद भारत मुरीदके पर हवाई हमला अंजाम देने वाला था। बेशक भारत ने मुरीदके को निशाना बनाया तो ये एलओसी की तरफ हुई सर्जिकल स्ट्राइक ना होकर या तो तेज रफ्तार से किया गया हवाई हमला होगा या किसी खुफिया दस्ते के जरिए अंजाम दिया जाने वाला टार्गेडेट अटैक होगा, जिसका सबसे प्रमुख निशाना होगा-लश्कर ए तैयबा का मुखिया हाफिज सईद।

हाफिज की तरह ही भारत की हिट लिस्ट में दूसरा सबसे बड़ा निशाना है मौलाना मसूद अजहर। वो आतंकी जिसे कंधार हाईजैक कांड के दौरान भारत को छोड़ना पड़ा था। कई मामलों में मसूद अजहर हाफिज से भी ज्यादा खतरनाक है। साल 2002 में पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ पर भी कातिलाना हमले की साजिश रच चुका है, जिसे जैश ए मोहम्मद ने अंजाम दिया था। मौलाना मसूद अजहर का आतंकी गुट जैश-ए-मोहम्मद भारतीय संसद पर हुए हमले समेत हाल ही में हुए पठानकोट और उरी हमले का भी जिम्मेदार माना जाता है। जिस ठिकाने पर जैश का सरगना रहता है वो जगह है-बहावलपुर। पता- पाकिस्तान के पंजाब का ज़िला। पहचान- जैश-ए-मोहम्मद का हेडक्वार्टर। खबरों के मुताबिक जैश का ये हेडक्वार्टर 16 एकड़ में फैला हुआ है जहां आतंकियों को ट्रेनिंग देने का हर तरह का इंतजाम है। बहावलपुर पाकिस्तान का 13वां सबसे ज्यादा आबादी वाला जिला है, लिहाजा यहां अगर जैश के ट्रेनिंग सेंटर धवस्त करना हो तो इसके लिए मिसाइल, और लड़ाकू विमान के हवाई हमले या खुफिया एजेंसियों के ऑपरेशन की जरूरत पड़ेगी।

बहावलपुर और मुरीदके के बाद जिस जगह से भारत के खिलाफ सबसे ज्यादा आतंकी साजिशें रची जाती हैं वो है मुज़फ़्फ़राबाद। पता- LOC से 75 कि.मी. दूर। पहचान- हिज़्ब-उल-मुजाहिदीन का हेडक्वार्टर। हिज्ब उल मुजाहिद्दीन का मुखिया सैय्यद सलाउद्दीन भारतीय है और विधानसभा चुनाव भी लड़ चुका है। कश्मीर के नौजवानों को गुमराह करने में वो सबसे आगे है। बुरहान वानी भी हिज्ब उल मुजाहिदीन से ही जुड़ा हुआ था, लिहाजा मुजफ्फराबाद का उसका हेडक्वार्टर भारत का टार्गेट नंबर एक है। भारत यहां सर्जिकल स्ट्राइक अंजाम देने की ताकत भी रखता है। हाफिज की तरह ही भारत की हिट लिस्ट में दूसरा सबसे बड़ा निशाना है मौलाना मसूद अजहर। वो आतंकी जिसे कंधार हाईजैक कांड के दौरान भारत को छोड़ना पड़ा था। कई मामलों में मसूद अजहर हाफिज से भी ज्यादा खतरनाक है। साल 2002 में पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ पर भी कातिलाना हमले की साजिश रच चुका है, जिसे जैश ए मोहम्मद ने अंजाम दिया था।

TOPPOPULARRECENT