Tuesday , September 25 2018

युवाओं को लुभाने के लिए डिजिटल होगा RSS, बनाएगा ‘ई’ शाखा

चुनावों में सूचना प्रौद्योगिकी के महत्व को लोगों ने पहली बार वर्ष 2014 के चुनाव में जाना। बिजनेस को बढ़ाने में प्रौद्योगिकी की भूमिका के बारे में सभी जानते ही हैं।

इसलिए टेक्नोलॉजी के इस दौर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) भी पीछे नहीं रहना चाहता। इस कवायद के तहत संघ न केवल अपने सेवा कार्यों की जानकारी जन-जन तक पहुंचायेगा, बल्कि ‘ई-शाखा’ एवं ‘आईटी मिलन’ कार्यक्रमों के जरिये भी नयी पीढ़ी में पैठ बना रहा है।

इस पर अपलोड किये गये वीडियो के माध्यम से शाखा कार्यक्रमों एवं गतिविधियों को पेश किया जा सकेगा। इस App का उपयोग मोबाइल एंड्राॅयड एवं उपकरणों के माध्यम से किया जा सकेगा।

संघ की कोशिश प्रौद्योगिकी के जरिये युवाओं को अपने कार्यों, तौर-तरीकों के बारे में बताना और उनके सवालों एवं शंकाओं का समाधान करने की है।

आरएसएस के वरिष्ठ प्रचारक राजीव तुली ने बताया कि संघ ने ‘ज्वाइन आरएसएस’ पहल शुरू की है, जो एक आॅनलाइन कार्यक्रम है। इसके तहत आभासी दुनिया में रहने वाले लोगों के लिए ‘वास्तविक शाखा’ का आयोजन किया जा रहा है।

यह पहल खास तौर पर आईटी, बीपीओ समेत आईसीटी क्षेत्र से जुड़े लोगों के लिए है। संघ यह पहल बेंगलुरु, हैदराबाद, मुंबई, तिरुवनंतपुरम जैसे सूचना प्रौद्योगिकी केंद्रों में आईटी पेशेवरों एवं युवाओं को जोड़ने के उद्देश्य से कर रहा है।

TOPPOPULARRECENT