Friday , December 15 2017

यूपीएससी से अरबी, फारसी, इखराज पर मुजाहिरा

यूपीएससी के निसाब से अरबी, फारसी ज़ुबान को हटाने, अंग्रेज़ी पैटर्न पर सीसेट सिस्टम को नाफ़िज़ करने की मुखालिफत में आईसा के दर्जनों कारकुनान ने ज़बरदस्त मुजाहिरा किया और पुतला नज़र आतिश किया। आईसा कर्कुनान हाथों में झंडे, बैज लिए और यूप

यूपीएससी के निसाब से अरबी, फारसी ज़ुबान को हटाने, अंग्रेज़ी पैटर्न पर सीसेट सिस्टम को नाफ़िज़ करने की मुखालिफत में आईसा के दर्जनों कारकुनान ने ज़बरदस्त मुजाहिरा किया और पुतला नज़र आतिश किया। आईसा कर्कुनान हाथों में झंडे, बैज लिए और यूपीएससी निसाब में की गयी तबदीली को वापस लो जैसे नारे लगाए। आईसा कारकुनान ने हिन्दी इम्तिहान देहिंदगान के मुस्तकबिल के साथ खिलवाड़ बंद करो वगैरा जैसे नारे भी लगाए और शहर की मुखतलिफ़ रस्तों पर जुलूस निकाला जो स्टेशन चौक के सामने मेटिंग में तब्दील हो गया।

मीटिंग के सदारत ज़िला कु-ओर्डिनेटर और गंगा प्रसाद पासवान ने की। मरकज़ी हुकूमत ने हिन्दी ज़ुबान वाले गरीब मेहनतकश उम्मीदवारों को आला अफसर बनने से रोकने के इस निसाब में तबदीली कर सीसेट पैटर्न लायी। मुक़र्ररीन में रोहित देव, रेशी कुमार, सुबोध कुमार, सावन कुमार, विजय कुमार, अमरेन्द्र कुमार, मोनु कुमार वगैरह ने अपने खिताब में कहा के यूपीएससी को हटाना मौजूदा मर्कज़ी हुकूमत ने किसी खास तबके को आला खिदमात में जाने से रोकने की साजिश की है। इसके खिलाफ आज आईसा कर्कुनान देहली में सोनिया गांधी की रिहाइशगाह का घेराव समेत पूरे मुल्क में ट्रेन रोको रास्ता रोको जुलूस व मुजाहिरा कर रही है।

TOPPOPULARRECENT