यूपी के किसानों ने ख़ून से पत्र लिख कर किया अपना दर्द बयान

यूपी के किसानों ने ख़ून से पत्र लिख कर किया अपना दर्द बयान
Click for full image

आगरा के विकास भवन में आयोजित किसान दिवस के अवसर पर सरकार प्रशासन की किसान विरोधी नीतियों पर जिले के किसानों ने जम कर हंगामा किया।किसानों ने किसान दिवस का बहिष्कार करते हुए मुख्यमंत्री के नाम ख़ून से पत्र लिख कर उप निदेशक कृषि वीके सचान को सौंपा।

ख़बर रहे कि बुधवार को आयोजित किसान दिवस में भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले पहुंचे किसानों ने आरोप लगाया कि अधिकारी एवं कोल्ड स्टोरेज संचालकों की मिलीभगत से किसानों से आलू रखने के लिए मनमाने दाम वसूले जा रहे हैं। किसानों का कहना है कि नहरों की सफाई कर एक नवंबर से उनमें सिचाई के लिए पानी छोड़ा जाना है, लेकिन अधिकारियों का सुस्त रवैया जारी है।

किसानों ने यह भी आरोप लगाया कि नहरों की सफाई को शासन की ओर से आए बजट को अधिकारियों और ठेकेदारों में बांट लिया जाता है। अगले हफ्ते से खरीफ की फसल (आलू, गेंहू, सरसों) की बुआई शुरू होनी है, लेकिन प्रशासन की ओर से नहरों की सफाई के लिए कोई कदम नहीं उठाया गया है। साथ ही उन्होंने ऋण मोचन योजना में कुछ किसानों को जानबूझकर शामिल न करने का आरोप लगाया।

Top Stories