Friday , June 22 2018

यूपी के दूल्हे को पाकुड़ में फांसी पर लटकाया

पाकुड़ जिले के महेशपुर थानां के तहत अमलागाछी गांव के आदिवासियों ने इंसानी तस्कर होने के शक में एक दूल्हे को पेड़ से फांसी लटका कर मार डाला। वाकिया 10 जनवरी जुमा की है। पहले दिन पुलिस को इसके बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पायी थी। दू

पाकुड़ जिले के महेशपुर थानां के तहत अमलागाछी गांव के आदिवासियों ने इंसानी तस्कर होने के शक में एक दूल्हे को पेड़ से फांसी लटका कर मार डाला। वाकिया 10 जनवरी जुमा की है। पहले दिन पुलिस को इसके बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पायी थी। दूसरे दिन राजू ठाकुर की बीवी गांव की ही शुक्रमुनी पहाड़िन ने थाने में शिकायत की। इस वाकिया को लेकर एसपी रिचर्ड लकड़ा ने सोमवार को शिकायत गुज़ार समेत दीगर लोगों से थाने में घंटों पूछताछ की।
उत्तर प्रदेश के समेरा गांव का था राजू : शुक्रमुनी पहाड़िन ने एसपी को बताया कि सात जनवरी को उत्तर प्रदेश के गोंडा जिला के तहत समेरा गांव का राजू ठाकुर (30) उसके साथ अमलागाछी गांव आया था। 10 जनवरी को राजू ठाकुर और वह शहरग्राम हटिया के लिए गयी थी। वहां से लौट कर राजू ने खाना बनाने का कहा। इतना कह कर वह घर से निकला। इसके बाद लौट कर नहीं आया।

दूसरे दिन उसका लाश दरख्त से लटका पाया गया। एसपी ने शुक्रमुनी के अलावा पंचायत कमेटी मेम्बर बोंगा पहाड़िया समेत दीगर गाँव वालों से भी पूछताछ की। एसपी ने बताया कि मामले में शामिल मुल्जिमान की खोजबीन की जा रही है। मुजरिमों को बख्शा नहीं जायेगा। इस मामले में नामालूम लोगों पर कत्ल का मामला दर्ज किया गया है।

मामले की जांच कर रहे एसआइ केके तिवारी के मुताबिक, करीब छह साल पहले शुक्रमुनी की शादी गोंडा (यूपी) के रहने वाले राजू ठाकुर से हुई थी। बाद में शुक्रमुनी उसके साथ गोंडा चली गयी थी। पुलिस ने बताया कि यह कत्ल का मामला है। गले में बंधा एक मफलर के साथ लाश को दरख्त से लटका पाया गया। हालांकि, उसके जिश्म पर कोई चोट के निशान नहीं था।

पुलिस इस मामले की तफ़सीश कर रही है कि राजू और शुक्रमुनी गांव की किसी लड़की की शादी उत्तर प्रदेश में कराने के लिए किसी खानदान के राब्ते में था या नहीं। यह जानने के लिए लोगों से पूछताछ की जा रही है।

TOPPOPULARRECENT