यूपी के हमीरपुर में दो समुदाय के लोग आपस में भिड़े, छावनी में तब्दील हुआ शहर

यूपी के हमीरपुर में दो समुदाय के लोग आपस में भिड़े, छावनी में तब्दील हुआ शहर
सांकेतिक तस्वीर

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में जुलूस निकालने को लेकर दो समुदाय के लोग आपस में भिड़ गए. जब पुलिस ने मामला शांत कराने के लिए जुलूस का मार्ग बदला तो नाराज लोगों ने पुलिस पर ही पथराव शुरू कर दिया. इसके बाद पुलिस ने हलका बल प्रयोग कर भीड़ को तितर- बितर किया. इस दौरान पुलिस ने पथराव कर रहे लोगों पर फायरिंग के साथ आंशू गैस के गोले भी छोड़े. इसके बाद जाकर मामला शांत हुआ. कहा जा रहा है कि पथराव से जुलूस कार्यकर्ता के साथ पुलिसकर्मियों को भी गंभीर चोटें आई हैं.

जानकारी के मुताबिक, हमीरपुर जिले के मौदहा कस्बे में मंगलवार को सदियों से चले आ रहे कंश मेले का जुलूस परम्परागत तरीके से निकाला गया था. लेकिन दूसरे समुदाय के लोगों ने जुलूस को खास रास्ते से गुजरने का विरोध किया. इसके बाद दोनों समुदायों के बीच कहासुनी हो गई और देखते ही देखते मामला गरमा गया. मौके पर पहुंची पुलिस ने जब मामला शांत कराने के लिए दखल दिया, तो भीड़ पुलिस के ऊपर भड़क गई और पथराव शरू कर दिया. स्थिति को सम्भालने के लिए पुलिस ने बल का प्रयोग करते हुए लाठियां भांजी  और हवाई फायरिंग की, तब जाकर मामला शांत हुआ. लेकिन कई पत्थरबाज और पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं.

कहा जा रहा है कि स्थिति को देखते हुए पुलिस ने पूरे कस्बे को छावनी में बदल दिया है. साथ ही कर्फ्यू लगा दिया गया है. वहीं, हमीरपुर सांसद पुष्पेन्द्र सिंह चंदेल ने इस पुरी घटना के लिए पुलिस को जिम्मेदार ठहराया है. उन्होंने कहा है कि पुलिस ने पहले परमिशन दी, फिर उस रूट को बदल दिया. इसके बाद ही यह पूरा बवाल हुआ है. जानकारी के अनुसार, कंश मेले को लेकर जिला प्रशासन ने पहले से ही पूरी तैयारियां कर ली थी. उसका रूट मार्च पहले ही बना लिया गया था. लेकिन रूट बदलने के बाद हंगामा हो गया.

Top Stories