Thursday , December 14 2017

यूपी को गुजरात बनाने में लगता है 56 इंच का सीना

यूपी के गोरखपुर में जुमेरात के रोज़ अपनी रैली के दौरान बीजेपी के पीएम ओहदे के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने अपोजिशन पार्टियों को ललकारते हुए कहा कि इलेक्शन का फैसला आवाम तय कर चुकी है। मोदी ने रैली के दौरान हुजूम से कहा कि ये हुजूम बदल

यूपी के गोरखपुर में जुमेरात के रोज़ अपनी रैली के दौरान बीजेपी के पीएम ओहदे के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने अपोजिशन पार्टियों को ललकारते हुए कहा कि इलेक्शन का फैसला आवाम तय कर चुकी है। मोदी ने रैली के दौरान हुजूम से कहा कि ये हुजूम बदलती हवा का रूख दिखा रही है। उन्होंने कांग्रेस को आड़े हाथों लिया और इल्ज़ाम लगाया कि जब‍जब इलेक्शन होते हैं तभी कांग्रेस को गरीबों की याद आती है क्योंकि उन्हें गरीबों और दलितों को वोट चाहिए होता है।

मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा अपने फायदे के लिए लोगों को गरीब रखा है। इसलिए 60 साल में भी हिंदुस्तान से गरीबी नहीं मिटी और गरीबों की जिंदगी भी नहीं बदली। मोदी ने इल्ज़ाम आइद किया कि कांग्रेस ने हमेशा गरीबी और गरीबों को मजाक उडाया है। उन्होंने कहा कि गरीबों को वोट बैंक बनाकर रखने वाली कांग्रेस को एक चाय वाला, एक गरीब का बेटा बर्दाश्त नहीं हो रहा है।

मोदी ने कहा कि कांग्रेसी लीडर 12 रूपये और पांच रूपये में भरपेट खाना मिलने का दावा करके गरीबों का मजाक उडाते हैं, और इसके बाद मोदी ने आवाम से इसका जवाब कांग्रेस को देने की अपील की। मोदी ने इसके साथ ही रियासत की समाजवादी पार्टी की हुकूमत को भी निशाना बनाया और कहा कि रियासत के नौजवान रोजी-रोटी कमाने के लिए अपने बूढे मां-बाप को छोडकर गुजरात समेत दूसरे इलाकों में जाने को मजबूर हैं।

उन्होंने कहा कि यूपी पर इतनी कुदरती फजल है और अगर यहां 10 साल सही ढंग से काम किया जाए, तो यह रियासत गुजरात से भी आगे निकल सकता है। मोदी ने सपा सरबराह मुलायम सिंह यादव पर सीधा हमला करते हुए कहा कि इन दिनों मैं जहां-जहां जाता हूं, बाप-बेटे दोनों मेरा पीछा करते हैं।

उन्होंने कहा, लीडर जी गुजरात बनाने का मतलब क्या होता है, आपको मालूम है क्या… गुजरात बनाने का मतलब है 24 घंटे बिजली, मुसलसल 10 साल तक 10 फीसदी से ज्यादा ज़रई तरक्की, 3-4 फीसदी पर लुढकते रहना आपकी हैसियत दिखाता है। आप यूपी को गुजरात नहीं बना सके, इसके लिए 56 इंच का सीना लगता है।

मेरी मानिए अकेला यूपी ही पूरे मुल्क की गरीबी मिटाने के लिए काफी है। मोदी ने रियासत के सभी अपोजिशन पार्टियों के खिलाफ एक अकवाम नारा देते हुए कहा-सबका (सपा, बसपा, कांग्रेस) मालिक एक।

मोदी ने कहा, यूपी के किसानों की हालत रियासती हुकूमत को नजर नहीं आती है क्योंकि वह खाद पाने के लिए मुसलसल कतारों में लग रहा है या ब्लैक मार्केट से खरीद रहा है और रियासत की हुकूमत सरकार है कि फर्टिलाइजर फैक्टरी में ताला लगाए बैठी है। मोदी ने रियासत के किसानों के साथ-साथ मवेशियों का ज़िक्र करते हुए कहा कि रियासती हुकूमत आज तक यहां अमूल जैसी इदारा क्यों नहीं बना पाई। किसानो को जदीद बनाए जाने की जरूरत है और इसके लिए खेती को तीन हिस्सों में बांटना होगा। पहला हिस्सा रिवायती खेती है, दूसरा मवेशी पालना और तीसरा खेतों की मेड़ पर पौधे लगाना ।

मोदी ने तालीम के मामले में भी रियासत के पिछडेपन का जिक्र किया। अपनी तकरीर की शुरूआत में मौजूद आवाम से खिताब करते हुए मोदी ने कहा कि हुजूम बदली हवा का रूख दिखाती है और यहां की जनता की आवाज बनारस की गलियों में भी गूंज रही है।

मोदी ने कहा कि अभी-अभी तो 2014 के लोकसभा इंतेखाबात का ट्रेलर शुरू हुआ है। इस ट्रेलर में बीजेपी पांच में चार विधानसभा इलेक्शन में अव्वल रही है। मोदी ने जनता से अपील की कि वह कमल छाप पर मुहर लगाकर बीजेपी को इलेक्शन में जिताए। इससे पहले , पार्टी के रियासती सदर लक्ष्मीकांत वाजपेयी ने दावा किया था कि मोदी की यह सबसे बडी रैली साबित होगी। पार्टी ने लोगों का रैली के मुकाम पर पहुंचने के लिए कई इंतेजाम किए थे।

मोदी की यह रैली हाइटेक है और उनकी तकरीर को दुनिया के कई दूसरे मुल्को में लोग देख और सुन रहे हैं। रैली की सेक्युरिटी के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए और इसके लिए गुजरात की खुसूसी पुलिस टीम की भी तैनाती की गई।

यह रैली मशरिकी उत्तर प्रदेश को ध्यान में रखकर मुनाकिद की गई, जहां लोकसभा की 13 और विधानसभा की 62 सीटें हैं। इस रैली के साथ ही बीजेपी मशरिकी उत्तर प्रदेश में इंतेखाबी मुहिम की शुरूआत कर रही है। यह पूछे जाने पर इस हल्के से कितनी सीटें मिलने की उम्मीद है, रैली के मुकामी कंवेनर और बीजेपी के लोकसभा मेम्बर योगी आदित्यनाथ ने कहा, उत्तर प्रदेश में बीजेपी सभी पार्टियों से बेहतर मुज़ाहिरा करेगी।

TOPPOPULARRECENT