Tuesday , September 18 2018

यूपी चुनाव: कश्मीरी छात्रों के जरिये आरएसएस कर रही मुस्लिम समुदाय को लुभाने की कोशिश

नई दिल्ली: यूपी चुनावों में जीतने की रणनीति बनाने में बीजेपी का साथ दे रही आरएसएस ने यूपी में उनकी जीत का डंका बजाने के लिए एक नया हथकंडा निकाला है। आरएसएस की यह रणनीति अगर काम कर गई तो वह एक ही तीर से दो शिकार कर सकेंगे। जिससे कांग्रेस, सपा और बसपा को काफी नुक्सान हो सकता है। यूपी में मुस्लिम वोट हथियाने के लिये आरएसएस की मुस्लिम विंग मुस्लिम राष्ट्रीय मंच ये तरकीब अपनाने जा रही है।
गौरतलब है कि हिजबुल कमांडर बुरहान वानी के एनकाउंटर के बाद से घाटी में काफी अशांति फैली हुई है। इस घटना से नाराज चल रहे कश्मीरी युवाओं को अब आरएसएस मनाने की कोशिश करेगी। कश्मीरी युवाओं के भविष्य के लिए मुस्लिम राष्ट्रीय मंच ने 7 जनवरी को दिल्ली में कश्मीरी छात्र सम्मेलन बुलाया है। जिसमें इस बात पर विचार किया जाएगा कि यूथ के साथ से कैसे कश्मीर के हालात सही हो सकते हैं।
इस सम्मेलन में यूपी में पढ़ रहे कश्मीरी छात्रों समेत दिल्ली एनसीआर से भी कश्मीरी छात्रों को बुलाया गया है।

इस सम्मेलन में गृहमंत्री राजनाथ सिंह, विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह, अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी, कश्मीर के डिप्टी सीएम, कई मुस्लिम वुद्धिजीवी और अन्य हस्तियां मौजूद होगी। दरअसल कश्मीरी छात्रों को भविष्य सवारने के चक्कर में बीजेपी के यूपी चुनावों का भविष्य संवार रही है क्योंकि वह कश्मीरी छात्रों के जरिये मुस्लिम समुदाय को लुभाने की ताक में हैं। वह जानते हैं कि युवा मुस्लिम समुदाय से जुड़े हैं। उनके जरिये आरएसएस मुस्लिम समुदाय को यह दिखाने की कोशिश कर रही है कि बीजेपी और आरएसएस मुस्लिम विरोधी नहीं है बल्कि जितना ध्यान उनका बाकी लोगों की ओर है उतना ही ध्यान मुस्लिम समुदाय की ओर भी है।

TOPPOPULARRECENT