Sunday , November 19 2017
Home / Politics / यूपी चुनाव में मायावती और सपा में टक्कर, बीजेपी के लिए अच्छी खबर नहीं

यूपी चुनाव में मायावती और सपा में टक्कर, बीजेपी के लिए अच्छी खबर नहीं

नई दिल्‍ली। देश के सबसे बड़े सूबे उत्‍तर प्रदेश के सियासी संग्राम को जीतने की तैयारी में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने केंद्र में सत्‍तारूढ़ भाजपा से काफी बढ़त बना ली है। जहां एसपी, बीएसपी ने ज्यादातर टिकट तय कर दिए हैं वहीं बीजेपी की एक भी सूची नहीं आई है। हर सीट पर बीजेपी में टिकट के लिए अंदरखाने वहां के बड़े नेता एक दूसरे से खार खाए हुए हैं कि कब कौन किसकी टिकट काट बैठे। भाजपा में कौन कार्यकर्ता किस सीट से मैदान में होगा अभी तक पता नहीं। टिकट के दावेदार भी ऊहापोह में और जनता भी।
images(2)
दरअसल, भाजपा में अभी आंतरिक तौर पर यह तय नहीं हो पा रहा है कि किस धुरंधर नेता के कोटे में कितनी सीटें आएंगी। जानकार बताते हैं कि यह तय हो जाएगा तभी टिकटों का वितरण हो पाएगा। जबकि सपा और बसपा में इस तरह का कोई लफड़ा नहीं है। मायावती ने जो कह दिया उनकी पार्टी में वह पत्‍थर की लकीर है। जबकि नेताजी यानी मुलायम सिंह यादव के यहां उनका कुनबा आपस में सबकुछ तय कर देता है। इसलिए इन दोनों नेताओं की पार्टियों ने ज्‍यादातर सीटों पर अपने सियासी सिपाहियों की घोषणा कर दी है।

भाजपा में इस समय केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह, सांसद योगी आदित्‍यनाथ, कलराज मिश्र, प्रदेश अध्‍यक्ष केशव प्रसाद मौर्य, पूर्व प्रदेश अध्‍यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपेयी एवं वरुण गांधी बड़े चेहरे हैं। इन सभी के अपने समर्थक हैं इसलिए वे अपने-अपने क्षेत्र की सीटों के बंटवारे में दखल चाहते हैं। सूत्रों का कहना है कि इसीलिए अभी तक प्रदेश प्रभारी ओम माथुर और अध्‍यक्ष केशव प्रसाद मौर्य प्रत्‍याशियों के नाम तय नहीं कर पा रहे हैं। राजनीतिक जानकारों के मुताबिक बीजेपी का अभी तक उम्मीदवार नहीं तय करना उसके लिए मुश्किलें खड़ी कर सकता है।

TOPPOPULARRECENT