यूपी पुलिस का अधिकारी बोला- एनकाउंटर से बचना है तो बीजेपी नेता को मैनेज करो

यूपी पुलिस का अधिकारी बोला- एनकाउंटर से बचना है तो बीजेपी नेता को मैनेज करो
Police coming out after a search for Akhilesh Government Minister Gaytri Prasad Prajapati from his official residence at gautampalli area of Lucknow on tuesday. Prajapati is an accused of Posco act and Supreme Court ordered to the Uttar Pradesh Police to arrest him. Express Photo by Vishal Srivastav. 28.02.2017.

उत्तर प्रदेश में पुलिस के एक अधिकारी का ऑडियो  सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है । ऑडियो क्लिप में झांसी के मऊरानीपुर थाना प्रभारी (एसएचओ) सुनीत कुमार और कुख्यात हिस्ट्रीशीटर लेखराज सिंह यादव के बीच की बातचीत की क्लिप , जिसमें पुलिस अधिकारी द्वारा हिस्ट्रीशीटर को एनकाउंटर से बचने का रास्ता बताया जा रहा है। हालांकि, क्लिप वायरल होने के बाद झांसी के एसएसपी ने सुनीत कुमार को निलंबित कर दिया है, लेकिन यह क्लिप यूपी में होने वाले एनकाउंटर्स के तरीके पर बड़ा सवाल खड़ा कर रहा है। इसके अलावा अपराधी और पुलिस की मिलीभगत की भी पोल खोलता दिख रहा है।

सोशल मीडिया पर वायरल हुई ऑडियो क्लिप में पुलिस अधिकारी लेखराज को एनकाउंटर से बचने के लिए बीजेपी के नेता को मैनेज करने की सलाह देता सुनाई दे रहा है। सुनीत कुमार कह रहे हैं, ‘आपके ऊपर 60 मुकदमें हैं। आप एनकाउंटर के लिए सबसे फिट केस हैं पूरे यूपी में… आप मानकर चलिए कि राज्य में बीजेपी की सरकार है… अब आपकी मदद कौन करेगा ये आप जानो कि आप अपने आपको कैसे बचाते हैं… आप आपका लड़का, आपके चार लड़के, आपके इतने सारे गुर्गे हैं… 20-50 सब सबके सब…’ इस बात को सुनकर जब लेखराज ने पूछा कि क्या सब मारे जाएंगे? इस पर मऊरानीपुर थाना प्रभारी ने कहा कि हां, दो मिनट में मार देंगे, पट-पट। इसके अलावा पुलिस अधिकारी ने कहा कि अब सरकार के हिसाब से सिस्टम को देखते हुए अपना काम कीजिए। रिपोर्ट्स के मुताबिक इस बातचीत से ठीक एक दिन पहले ही झांसी में पुलिस और लेखराज के बीच एनकाउंटर हुआ था, जिसमें लेखराज अपने साथियों के साथ भागने में कामयाब रहा था।

इसके अलावा जब लेखराज ने सुनीत कुमार से मदद मांगी, तब पुलिस अधिकारी ने कहा कि उनकी मजबूरी को समझा जाए। अधिकार ने कहा कि अगर लेखराज एनकाउंटर से बचना चाहते हैं तो बीजेपी के जिलाध्यक्ष संजय दुबे और बबीना के बीजेपी विधायक राजीव सिंह को मैनेज करें। इस बात पर लेखराज ने सुनीत कुमार से कहा कि वह उनकी मदद करें, उनके नाती हैं, उनका परिवार है, इसलिए उनकी मदद की जाए। लेखराज की बात के जवाब में सुनीत ने कहा कि वह खुद उनकी मदद करना चाहते हैं, इसलिए पिछली बार एनकाउंटर के वक्त हथियार लेकर नहीं गए थे।

Top Stories