Monday , December 18 2017

यूपी पुलिस ने राजीव को पाकिस्तानी कहकर कम से कम दो सौ लाठियां मारीं

उत्तर प्रदेश : लखनऊ में भोपाल एनकाउंटर के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे रिहाई मंच के कार्यकर्ताओं, मंच के महासचिव राजीव यादव और शकील कुरैशी को पुलिस ने बुरी तरह पीटा है | पुलिस की पिटाई में रिहाई मंच के महासचिव राजीव यादव को गंभीर चोटें आईं हैं |

रिहाई मंच ने भोपाल एनकाउंटर के खिलाफ लखनऊ में गाँधी प्रतिमा जीपीओ हज़रतगंज पर एक धरने का आयोजन किया था | मंच के लखनऊ प्रवक्ता ने बताया कि अभी हमारा विरोध प्रदर्शन शुरू नहीं हुआ था। जीपीओ पहुंचकर हम अपना बैनर टांग रहे थे लेकिन वहां पहले से मौजूद पुलिस ने हमें धरना करने से मना कर दिया। मंच के महासचिव राजीव ने जीपीओ पुलिस चौकी इंचार्ज ओमकार नाथ यादव से इसकी वजह जाननी चाही तो पहले उनके साथ बदसुलूकी हुई, फिर बुरी तरह पिटाई की गयी ।पुलिस उन्हें और शक़ील कुरैशी को मारती हुई पुलिस चौकी तक ले गई है।

इस घटना के बारे में जब मंच के प्रवक्ता शाहनवाज़ आलम से बात की गयी उन्होंने बताया कि राजीव को पुलिस ने लगभग 200 लाठी मारी हैं | पुलिस पिटाई के साथ साथ उनको पाकिस्तानी एजेंट भी कह रही थी | उन्होंने बताया कि राजीव के सर ,पैर और और पूरे बदन पर चोट आई हैं |मंच के प्रवक्ता ने कि ऐसा पहली बार नहीं हुआ जब विरोध प्रदर्शन करने वालों को पुलिस ने बुरी तरह से पीटा है | इससे पहले भी फ़रवरी में जमात-ए-इस्लामी हिन्द के छात्र संगठन स्टूडेंट्स इस्लामिक ऑर्गेनाइजेशन(SIO) के द्वारा किये जा रहे विरोध प्रदर्शन के दौरान संघ और भाजपा कार्यकर्ताओं ने पुलिस की मौजूदगी में बुरी तरह पीटा था |

शाहनवाज़ आलम ने कहा कि रिहाई मंच इस घटना के ख़िलाफ़ एक लंबा प्रदर्शन करेगा | इसके अलावा पूरे राज्य में यात्रा निकाल कर अवाम को बताया जायेगा कि कैसे ये सरकार आरएसएस के इशारों पर काम कर रही है |

राज्य सरकार की भूमिका पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि जिस तरह विधान सभा से महज़ कुछ ही दूरी पर स्थित स्थल पर ये मामला हुआ है | उससे प्रदेश में अल्पसंख्यकों की स्तिथि का पता चलता है | उन्होंने कहा कि इससे ये भी पता चलता है कि अल्पसंख्यकों के लिए आवाज़ उठाने वालों के साथ पुलिस किस तरह से पेश आती है | उन्होंने आरोप लगाया कि प्रदेश की सपा सरकार आरएसएस एजेंट के तौर पर काम कर रही है |

TOPPOPULARRECENT