यूपी में जहरीली शराब कांड कहीं षडयंत्र तो नहीं?- सीएम योगी

यूपी में जहरीली शराब कांड कहीं षडयंत्र तो नहीं?- सीएम योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शराब पीने से हुई मौतों पर कड़ा रुख अपनाया है। दो दिवसीय (9, 10 जनवरी) दौरे पर गोरखपुर आए मुख्यमंत्री ने शनिवार की देररात सर्किट हाउस में कहा कि यूपी में शराब पीने से पहले जो मौतें हुई थीं, उसमें सपा के लोगों की भूमिका सामने आई थी।

अब जो मामले हुए हैं, उसकी जांच कराई जा रही है। देखा जा रहा है कि कहीं षडयंत्र तो नहीं किया गया। ऐसा हुआ तो षडयंत्रकारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

मुख्यमंत्री ने सर्किट हाउस में 23 और 24 फरवरी को प्रस्तावित राष्ट्रीय किसान अधिवेशन की तैयारियों की जानकारी ली, फिर मीडिया कर्मियों से बात की। मुख्यमंत्री ने कहा कि कुशीनगर, सहारनपुर की घटना की जांच चल रही है।

जिलाधिकारी, आबकारी अधिकारी और पुलिस कर्मियों की जवाबदेही तय की गई है। जांच रिपोर्ट आने के बाद और बड़ी कार्रवाई की जाएगी। मामले से संबंधित किसी आरोपी को बख्शा नहीं जाएगा।

उत्तराखंड के हरिद्वार के एक गांव में पार्टी थी, जिसमें सहारनपुर और मुजफ्फरनगर के लोग भी गए थे। वहां कच्ची शराब परोसी गई, यह मिलावटी थी या फिर जहरीली, इसकी जांच कराई जा रही है।

इस मामले में शनिवार को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत से बात की गई है। कच्ची शराब बनाने वाले गिरोह की जानकारी भी मांगी गई है। मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी है। जिन लोगों का इलाज चल रहा है, उन सबको 50-50 हजार रुपये की सहायता देने का एलान किया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यूपी के आजमगढ़, कानपुर, हरदोई और बाराबंकी में पहले भी शराब पीने से मौतें हुई थीं। जांच कराई गई तो सपा नेताओं की भूमिका सामने आई थी। इस बार भी जांच कराई जा रही है। साजिश हुई तो सख्त कार्रवाई होगी।

अमर उजाला पर छपी खबर के अनुसार, मुख्यमंत्री ने कहा कि यूपी के सभी जिले के अफसरों को अलर्ट किया गया था। शराब के अवैध कारोबार के खिलाफ और सख्ती होगी। जिन लोगों की मौत हुई हैं, उनके प्रति गहरी संवेदना है। अस्पतालों में बेहतर इलाज मिले, इसकी व्यवस्था सुनिश्चित कराई गई है।

Top Stories