यूपी में बी जे पी । जनतादल (यू) इत्तिहाद बरक़रार

यूपी में बी जे पी । जनतादल (यू) इत्तिहाद बरक़रार

नई दिल्ली 7 नवंबर (पी टी आई) एन डी ए की हलीफ़ पार्टीयां बी जे पी और जनतादल (यू) ने बज़ाहिर उत्तरप्रदेश में आने वाले असमबली इंतिख़ाबात के लिए अपने इख़तिलाफ़ात को बज़ाहिर दूर करलिया है। लेकिन नशिस्तों की तक़सीम की तफ़सीलात को क़तईयत नहीं दी

नई दिल्ली 7 नवंबर (पी टी आई) एन डी ए की हलीफ़ पार्टीयां बी जे पी और जनतादल (यू) ने बज़ाहिर उत्तरप्रदेश में आने वाले असमबली इंतिख़ाबात के लिए अपने इख़तिलाफ़ात को बज़ाहिर दूर करलिया है। लेकिन नशिस्तों की तक़सीम की तफ़सीलात को क़तईयत नहीं दी गई है। पार्टी के सीनीयर लीडर एल के अडवानी की मुख़ालिफ़ रिश्वत सतानी यात्रा के ख़तन होने के बाद ही नशिस्तों का फ़ैसला होगा।

बी जे पी और जनतादल (यू) के दरमयान बाअज़ इख़तिलाफ़ात पाए जाते हैं क्योंकि हाल ही में जनतादल (यू) ने बी जे पी को मकतूब लिख कर कहा था कि वो 403 रुकनी यूपी असैंबली के नशिस्तों के मिनजुमला 53 पर मुक़ाबला करना चाहती है। इस बात को बी जे पी ने क़बूल नहीं किया है। ताहम बी जे पी भी अपने क़दीम हलीफ़ पार्टी को मकतूब लिखा है कि वो नशिस्तों की तक़सीम के लिए तैय्यार है

लेकिन नशिस्तों की तादाद और इंतिख़ाब का फ़ैसला अडवानी की यात्रा के बाद किया जाएगा। बी जे पी का ये जवाब आर ऐस इससे इशारा मिलने के बाद दिया गया है। यूपी में अब बी जे पी नशिस्तों की तक़सीम के लिए तैय्यार है। जनतादल (यू) के जनरल सैक्रेटरी के सी त्यागी ने बी जे पी को अपने मतलूब 53 नशिस्तों की फ़हरिस्त हवाले की। इस मसला पर अनक़रीब दोनों पार्टीयों के दरमयान बातचीत होगी।

Top Stories