यूपी में बेगुनाहों को एनकाउंटर के नाम पर मारा जा रहा है- ओवैसी

यूपी में बेगुनाहों को एनकाउंटर के नाम पर मारा जा रहा है- ओवैसी

हैदराबाद के सांसद और एआईएमआईएम के नेता असदुद्दीन ओवैसी ने प्रधानमंत्री मोदी पर फिर से हमला बोला है. ओवैसी ने इस बार पीएम की तुलना मशहूर जादूगर पीसी सरकार से की है.

हैदराबाद के तेज-तर्रार नेता ने इस बार पीएम मोदी के 10 अप्रैल को बिहार के चंपारण में दिए भाषण को लेकर उन्हें निशाना बनाया. मोदी ने यहां पर कहा था कि बिहार में एक हफ्ते में 8.5 लाख टॉयलेट बनकर तैयार हो गए.

इस पर ओवैसी ने कहा, ‘पीएम जानेमाने जादूगर पीसी सरकार को तगड़ी चुनौती दे रहे हैं. बहुत जल्दी वह टीवी पर आकर अपनी टोपी में से खरगोश निकालते दिखाई देंगे. उनके जादू के शो को टीवी पर बहुत टीआरपी मिलेगी.’ पीएम के इस दावे को लेकर सोशल मीडिया पर भी सवाल उठाए गए थे.

ओवैसी ने जम्मू-कश्मीर में कठुआ गैंगरेप की घटना को लेकर भी बीजेपी और उसकी सहयोगी पार्टी पीडीपी की आलोचना की. कठुआ में आठ साल की बच्ची का गैंगरेप और मर्डर हो गया था. उन्होंने कहा, ‘मंदिर के अंदर इतनी वीभत्स घटना हुई. इस मामले में सारे सबूत मौजूद हैं. लेकिन बीजेपी के सहयोग से बनी पीडीपी सरकार इस मामले में उचित कदम नहीं उठा रही है.’

उन्होंने कहा कि पीएम मोदी बेटियों को बचाने की बात करते हैं, लेकिन इस मामले पर चुप्पी साधे हुए हैं. राज्य की सीएम महबूबा मुफ्ती क्या कर रही हैं? यह साफ तौर पर मोदी सरकार का दोगलापन है.

एआईएमआईएम प्रमुख ने उत्तर प्रदेश में बीजेपी सरकार को भी अपने निशाने पर लिया और कहा कि इस राज्य में बेगुनाहों को एनकाउंटर के नाम पर मारा जा रहा है. उन्होंने कहा कि सरकार असली अपराधियों को बचाने का काम कर रही है.

ओवैसी ने कहा कि यूपी के सीएम को इन एनकाउंटर पर गर्व है, जबकि ये सोच समझकर की गई हत्याएं हैं. उन्होंने यूपी के उन्नाव में हुए गैंगरेप में घिरे बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के बारे में सवाल किया कि क्या यूपी के सीएम अपनी ही पार्टी के नेताओं के खिलाफ एक्शन लेंगे?

उन्होंने संसद न चलने के विरोध में बीजेपी के उपवास को लेकर पीएम के साथ ही बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पर भी तंज कसा.ओवैसी ने कहा कि बीजेपी को सदन में बहुमत हासिल है. वह चाहे तो व्यवधान पैदा कर रहे सांसदों को निष्काषित कर सदन चला सकती है. उन्होंने कहा कि सदन स्थगित हो रहा था तो सरकार के सांसद चुपचाप देख रहे थे.

Top Stories