Wednesday , November 22 2017
Home / Khaas Khabar / यूपी में मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार आदित्यनाथ और स्मृति इरानी में ‘तनातनी’

यूपी में मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार आदित्यनाथ और स्मृति इरानी में ‘तनातनी’

दिल्ली : भारतीय जनता पार्टी के कुछ सिनियर लोगों का कहना है कि यूपी में मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर फ़िलहाल दो ही नाम हैं, लेकिन उन पर आम राय नहीं बन पा रही है. पहला नाम है केंद्रीय मंत्री और गुजरात से राज्य सभा सांसद स्मृति इरानी का और दूसरा नाम है गोरखपुर से सांसद योगी आदित्यनाथ का. लेकिन अंदर के लोगों के मुताबीक पार्टी और आरएसएस में पिछले दो हफ़्तों से इस बात को लेकर ‘तनातनी’ जारी है कि बतौर सीएम उम्मीदवार पार्टी किसका नाम एलान कर सकती है. इन वरिष्ठ नेताओं के मुताबीक आरएसएस की राय ये दिख रही है कि पार्टी को कैडर की बात सुनते हुए योगी आदित्यनाथ को उम्मीदवार बनाना चाहिए.

योगी आदित्यनाथ प्रदेश के उन नेताओं में से एक हैं जिन्होंने खुलकर हिंदुत्व और हिन्दू समाज की बात की है और अक्सर दूसरे तबकों के प्रति अपने कुछ बयानों को लेकर विवाद में भी रहे हैं. 2014 के आम चुनावों से पहले ‘लव जिहाद’ पर उनके कई विवादास्पद बयान और भाषण भी सुनने को मिलते रहे हैं. आरएसएस और इसकी सहयोगी संस्था बजरंग दल के रियासती कियादत से बात करने पर लगता है कि वे मान कर चल रहे हैं कि आगामी चुनावों में हिंदुत्व एक बड़ा मुद्दा रहेगा. एक आला नेता ने कहा, “सभी को पता है कि 2014 के आम चुनावों में भाजपा के लिए आरएसएस कैडर घर-घर गया और उसका नतीजा सभी ने देख लिया”. गौरतलब है कि रियासत की 80 लोकसभा सीटों में से भाजपा गठबंधन को 73 सीटें मिलीं थी. आरएसएस के नेताओं ने भाजपा से साफ़ कर दिया है कि चूंकि आदित्यनाथ रियासत के हैं और स्मृति इरानी अमेठी से संसदीय चुनाव लड़ने के बावजूद ‘बाहरी’ हैं, इसलिए उनका मत योगी के हक में जाएगा.

इधर, भाजपा के आला ओहदेदारों ने इस बात से इनकार नहीं कर रहे हैं कि प्रदेश में जिन नामों की चर्चा हो रही है उसमें ‘शीर्ष पर स्मृति इरानी का ही नाम है’.भाजपा को लग रहा है कि उनकी सीधी लड़ाई बसपा से है जिसका नेतृत्व एक महिला, मायावती, कर रहीं हैं और उनके ख़िलाफ़ स्मृति जैसी कोई ‘एग्रेसिव महिला ही नहले पर दहला साबित होगी’. लेकिन पार्टी की तरफ से आरएसएस को कथित तौर से ‘मनाने की कई कोशिशें अभी तक नाक़ाम रहीं हैं, लेकिन जल्द ही एक अंतिम फ़ैसला ले लिया जाएगा’. 

TOPPOPULARRECENT